AAj Tak Ki khabarChhattisgarhKorbaNational

गेवरा रोड स्टेशन में यात्रियों को लेकर भारी उपेक्षा, पैसेंजर २ साल से बंद, एक मेमू वह भी समय पर नहीं….

Pawanकोरबा – कोरोना काल के समय से गेवरा रोड से चलने वाली यात्री ट्रेनों का परिचालन फिर से शुरू नही हो पाया है। बीते लगभग ४ वर्षों से गेवरा रोड स्टेशन यात्री ट्रेनों के नाम पर भारी उपेक्षा झेल रहा है, क्षेत्र के व्यापारियों द्वारा यात्री गाड़ी शुरू करने की मांग को लेकर गेवरा स्टेशन से कोरबा स्टेशन तक पदयात्रा आंदोलन, श्रमिक संगठनों द्वारा रेल रोको इत्यादि बड़े आंदोलन पर आश्वाशन के बावजूद यहां यात्री ट्रेनों की सेवा शुरू नही हुई। एक मात्र गाड़ी जो पैसेंजर के रूप में थी रेलवे प्रशासन पिछले लगभाह २ साल से बंद रखे हुए हैं। जो अब तक पटरी पर नहीं लौट पाई है। इसके बाद भी रेलवे प्रबंधन क्षेत्र विशेष के यात्रियों की सुविधा से अनजान बना हुआ है, जिससे लोगों को परेशानियों के बीच सफर करने मजबूर होना पड़ रहा है। क्षेत्र के लोग कोरबा आकर ट्रेन की सवारी करते हैं और यहां से वापस अपने घर पहुंचते हैं। पहले उन्हें गेवरारोड में ही ट्रेन मिल जाती थी, जिससे उनकी राह काफी आसान थी। आपको बता दें गेवरा रोड स्टेशन से कुसमुंडा क्षेत्र सहित भिलाईबाजार हरदीबाजार, बलगी बांकी मोंगरा, घुड़देवा, सुराकछार, गेवरा-दीपका सहित लगभग सैकड़ों गांव के लोग यहां से प्रतिदिन आवागमन करते हैं। रेलवे द्वारा इस क्षेत्र की जनता के साथ यात्री ट्रेन सुविधा के नाम पर अनदेखी दुखद है। गेवरा रोड स्टेशन परिसर में रेल लाइन का विस्तार तो हुआ पर केवल कोयला लदान वाली मालगाड़ियां का ही इसमें सुचारू रूप से आवागमन हो रहा है,यात्रियों की सुविधाओ से सरकार को कोई सरोकार नहीं। केंद्र के साथ साथ प्रदेश में भी अब भारतीय जनता पार्टी की सरकार है,ऐसे में पूर्व की भांति कम से कम ४ यात्री ट्रेनों का परिचालन गेवरा रोड से देना चाहिए। सड़कों पर आए दिन लगे वाले जाम और यात्री ट्रेनों का परिचालन बंद कर कुसमुंडा क्षेत्र की जनता दोहरी समस्या से जूझ रही है। विधान सभा के बाद अब लोकसभा चुनाव भी आने वाले दिनों में होने है ऐसे में गेवरा रोड स्टेशन की उपेक्षा प्रत्यासियो को भारी ना पड़ जाए। 

देखिए गेवरा रोड स्टेशन से यात्री ट्रेन शुरू करने पूर्व में किए गए आंदोलन की तस्वीरें..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button