AAj Tak Ki khabar

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय सचिव तनवीर अहमद सोनभद्र जिले के रॉबर्ट्सगंज लोकसभा सीट में करेंगे चुनाव प्रचार हाई कमान से मिला पत्र पूर्व सांसद छोटेलाल खरवार को दिलाएंगे विजयश्री 15 दिन पूर्व ही भाजपा सांसद छोटेलाल ने थामा सपा का दामन

भागवत दीवान 

उत्तर प्रदेश :- समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष श्यामलाल पाल ने पत्र लिखकर राष्ट्रीय सचिव तनवीर अहमद को सोनभद्र जिले के रॉबर्ट्सगंज लोकसभा सीट से समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी पूर्व सांसद छोटेलाल खरवार को विजय श्री दिलाने की अपील की है 15 दिन पूर्व ही भाजपा सांसद छोटेलाल ने सपा का दामन थामा है।

लंबे इंतजार के बाद रॉबर्ट्सगंज लोकसभा सीट पर समाजवादी पार्टी ने रविवार को उम्मीदवार घोषित कर दिया। पूर्व सांसद छोटेलाल खरवार को पार्टी ने उम्मीदवार बनाया है। वर्ष 2014 में भाजपा के टिकट पर जीते छोटेलाल ने करीब 15 दिन पहले ही सपा का दामन थामा है। उन्हें टिकट देकर पार्टी ने रॉबर्ट्सगंज लोकसभा के साथ दुद्धी विधानसभा के उपचुनाव के समीकरणों को साधते हुए बड़ा दांव खेला है।
मूल रूप से चंदौली जिले के नौगढ निवासी छोटेलाल खरवार ने वर्ष 2014 में इसी लोकसभा सीट से भाजपा के टिकट पर बड़े अंतर से जीत दर्ज की थी। तब उन्होंने बसपा प्रत्याशी शारदा प्रसाद को 1.90 लाख वोटों से हराया था। तत्कालीन सांसद और सपा प्रत्याशी पकौड़ी लाल कोल तीसरे स्थान पर थे।
वर्ष 2019 में भाजपा ने यह सीट अपना दल-एस के पाले में दे दी। तब छोटेलाल का टिकट काटकर अपना दल ने पकौड़ी लाल कोल को प्रत्याशी बनाया था। पकौड़ी लाल ने भी सपा-बसपा गठबंधन के प्रत्याशी भाईलाल कोल को हराया था।
टिकट कटने के बाद से ही छोटेलाल असंतुष्ट थे। इसके बाद उन्होंने विधानसभा और फिर नगर पालिका अध्यक्ष के चुनाव में अपनी पत्नी के टिकट के लिए दावेदारी की, लेकिन बात नहीं बनी। इस बार लोकसभा के लिए भी उन्होंने दावा पेश किया था, मगर सीट फिर अपना दल के पाले में चली गई। इसके बाद से छोटेलाल ने सपा में संपर्क बढ़ाते हुए टिकट कीइच्छा जाहिर की।

 

बताते हैं कि पार्टी नेतृत्व ने छोटेलाल का टिकट पहले ही पक्का कर दिया था। बस एनडीए उम्मीदवार के इंतजार में घोषणा बाकी थी। इस बीच मिर्जापुर में टिकट को लेकर मची खींचतान के कारण राॅबर्ट्सगंज सीट को भी होल्ड पर रख दिया गया था।
लोकसभा के साथ विधानसभा के समीकरणों को भी साधा
छोटेलाल खरवार को उम्मीदवार बनाकर सपा ने बड़ा दांव खेला है। लोकसभा के साथ सोनभद्र की दुद्धी विधानसभा सीट के समीकरणों को भी साधने की कोशिश की है। अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित दुद्धी विधानसभा क्षेत्र में खरवार मतदाताओं की बड़ी संख्या है। सोनभद्र में यह जाति अनुसूचित जनजाति में है। गोंड के बाद खरवार मतदाता ही सबसे ज्यादा हैं। उपचुनाव में सपा ने विजय सिंह गोंड को प्रत्याशी बनाया, जबकि भाजपा ने भी इसी समाज के श्रवण सिंह गोंड को उतारा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button