BILASPUR NEWS

नगर निगम के अतिक्रमण दस्ता ने बुधवार को पूरे दल बल के साथ पुराना बस स्टेंड के पास बनी दुकानो पर बुलडोजर कार्रवाई कर किया जमीदोंज

बिलासपुर–नगर निगम के अतिक्रमण दस्ता ने बुधवार को पूरे दल बल के साथ पुराना बस स्टेंड के पास बनी दुकानो पर बुलडोजर कार्रवाई कर जमीदोंज कर दिया गया।बताया जा रहा की लंबे समय से लंबित मामले में उच्च न्यायलय से आदेश आने के बाद पुराना बस स्टैंड के पास दुकानों को तोड़ने का काम सुबह से निगम का अतिक्रमण दस्ता शुरू कर अपनी कार्रवाई को अंजाम दिया। दरअसल इमली पारा रोड से पुराना बस स्टैंड चौक तक सड़क का चौड़ीकरण किया जाना है।जो काम कई सालों से पेंडिंग पड़ा है।इसके कारण पुराना बस स्टैंड के आस पास ट्रैफिक की व्यवस्था बिगड़ी रहती है। इन दुकानों को तोड़ने की कोशिश पहले भी की जा चुकी है।लेकिन तब व्यापारियों की याचिका के बाद हाईकोर्ट ने दुकानों को तोड़ने पर रोक लगा दी थी।

इस बीच दुकानदारों को वैकल्पिक व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए।जिसके बाद हाईकोर्ट की रोक खत्म होने के बाद स्मार्ट सिटी कंपनी ने एक बार फिर इन दुकानों को तोड़ने का काम शुरू कर दिया गया है।वही कई दुकानदार इस कार्रवाई का विरोध भी करते हुए नजर आए पर निगम की इस कार्रवाई के आगे उनकी नही चली।

यातायात होगा बहाल

निगम की इस कार्रवाई के के बाद पुराना बस स्टेंड के पास यातायात का दबाव जो हमेशा बने रहता था।अब उससे लोगो को राहत मिलेगी।इस जगह में बनी दुकानों हट जाने के बाद यहां पर सड़क चौड़ीकरण का कार्य किया जाएगा।जिससे यातायात सुगम और सरल हो जायेगा।यातायात की एक बड़ी समस्या इस क्षेत्र में बनी रहती थी।आज की कार्रवाई के बाद आम जनता को इससे निजात मिलेगी।

चबूतरों का हुआ था आबंटन

आज निगम पुराना बस स्टैंड के पास जिन दुकानों में कार्रवाई कर जमीदोंज किया है।ये सभी दुकानें अवैध रूप से बनाई गई थी।निगम के द्वारा इस जगह में चबूतरों का आबंटन किया गया था।लेकिन समय के साथ धीरे धीरे यहां पर इन चबूतरों में दुकान का निर्माण कर लिया गया था।निगम के द्वारा एक समयावधि के लिए यह चबूतरा हाट बाजार के रूप में दिया गया था।जिसकी अवधि भी समाप्त हो चुकी थी।

निगम ने कराई वैकल्पिक व्यवस्था

निगम अपनी कार्रवाई के पूर्व बकायदा पुराने बस स्टेंड में दुकानदारों के लिए वैकल्पिक व्यवस्था करते हुए अपने सारे संसाधन के साथ इन दुकानदारों को समान सहित सिप्टिंग करा गया।जिससे इस स्थान से यह अपना व्यवसाय सुचारू रूप से कर सके।पहले निगम के द्वारा इनको शिप्टिंग कराया गया।उसके बाद अपनी कार्रवाई को अंजाम दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button