AAj Tak Ki khabarChhattisgarh

आई पी एस दीपका में राष्ट्रीय विज्ञान दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित की गई कार्यशाला,विज्ञान के विभिन्न आश्चर्यजनक बातें जानकर प्रसन्नचित्त हुए विद्यार्थी

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस विद्यार्थियों में विज्ञान के प्रति जागरूकता और रूचि को बढ़ावा देता है-डॉ. संजय गुप्ता

भारत में राष्ट्रीय विज्ञान दिवस प्रत्येक वर्ष 28 फरवरी को मनाया जाता है । 28 फरवरी को सर चन्द्रशेखर वेंकट रमन ने अपनी खोज की घोषणा की । उसी दिन से हर साल पूरे देश में 28 फरवरी को विज्ञान दिवस के रूप में मनाया जाता है ।

स्कूल और कॉलेजों से विद्यार्थियों के भाग लेने, राज्य और राष्ट्रीय विभाग से वैज्ञानिकों के द्वारा वैज्ञानिक क्रिया-कलापों और कार्यक्रमों की पहचान के लिये विज्ञान उत्सव के रुप में राष्ट्रीय विज्ञान दिवस को मनाने की शुरुआत हुई। विज्ञान के पेशे में अपने जीवन को चमकाने और अपना पैर जमाने के लिये कई नये वैज्ञानिकों के लिये ये कार्यक्रम एक सही मंच उपलब्ध कराता है।
‘राष्ट्रीय विज्ञान दिवस‘ का उद्देश्य विज्ञान से होने वाले लाभों के प्रति समाज में जागरूकता लाना और वैज्ञानिक सोच पैदा करना है। इसी उद्देश्य से प्रति वर्ष 28 फरवरी को यह दिवस सम्पूर्ण भारत में राष्ट्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद तथा विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय के तत्वावधान में मनाया जाता है। इस दिन विभिन्न स्कूल, कालेजों एवं विज्ञान संस्थानों में वैज्ञानिक गतिविधियों का आयोजन किया जाता है। राष्ट्रीय विज्ञान दिवस के अवसर पर विज्ञान के क्षेत्र में विशेष योगदान एवं विज्ञान की लोकप्रियता बढ़ाने के लिए अनेक पुरस्कारों की घोषणा की जाती है।

दीपका स्थित इंडस पब्लिक स्कूल में इस वर्ष राष्ट्रीय विज्ञान दिवस के अवसर पर एक नई परिपाटी का आगाज किया गया । कोरबा क्षेत्र में विज्ञान की जटिलताओं को छात्रों तथा शोधकों को सरलता एवं सुगमता से हल प्रदान करने उनकी समस्याओं का समाधान करने तथा विज्ञान को जिन्दगी से जोड़ने वाले विभिन्न प्रयोगों से विद्यार्थियों को रूबरू कराया गया। विभिन्न कक्षा संकाय के विद्यार्थियों को फिजिक्स केमिस्ट्री एवं बायोलॉजी लैब में कई प्रकार के एक्सपेरिमेंट के द्वारा विज्ञान की बारीकियों एवं धारणाओं से अवगत कराया गया। विद्यालय के विज्ञान शिक्षक एवं शिक्षिकाओं ने कई प्रयोग कर विद्यार्थियों की जिज्ञासाओं का समाधान किया।विद्यालय के सभागार में एक कार्यशाला का आयोजन किया गया जिसमें सभी विद्यार्थियों को विज्ञान के विभिन्न प्रयोगों एवं लाभों की जानकारी दी गई।केमिस्ट्री लैब में भी विद्यार्थियों ने विभिन्न प्रयोग कर अपनी शंकाओं का समाधान किया। प्राचार्य महोदय ने छात्रों एवं का कुशल मार्गदर्शन किया । इंडस पब्लिक स्कूल दीपका ने राष्ट्रीय विज्ञान दिवस को विज्ञान के प्रणेता श्री सी वी रमन को समर्पित किया,विद्यालय में इस अवसर पर यह घोषणा की गई की हर वर्ष विज्ञान में नवाचार, विज्ञान के प्रति जिज्ञासा को बढ़ाना, विज्ञान संबंधी समस्याओं का निदान करना, विद्यालय के आसपास के ग्रामीण क्षेत्र के बच्चों को विज्ञान सिखाना एवं जागरूक करना । आस-पास के लोगों एवं विद्यालय के छात्रों को घरेलु अपशिष्ट पदार्थों को लेकर उपयोगी वस्तुएँ एवं वैज्ञानिक मॉडल बनाना ,इस क्रम में कार्य करने वाले सभी विज्ञान के शिक्षकों को राष्ट्रीय विज्ञान दिवस के अवसर पर समानित करने का प्रण लिया गया। इस कार्यक्रम में अहम भूमिका विद्यालय के सभी विज्ञान शिक्षकों एवं शिक्षिकाओं की रही।

इस अवसर पर विद्यालय प्राचार्य डॉ. संजय गुप्ता जो स्वयं विज्ञान के जटिलतम गणित विषय से संबंध रखते हैं, ने सभी शिक्षकों को बधाई देते हुए कहा कि विज्ञान की मदद से इंसानों ने कई तरह की खोज कर, अपने जीवन को ओर बेहतर बना लिया है। विज्ञान के जरिए ही आज हम लोगों ने नई तरह की तकनीकों का आविष्कार किया है. वहीं हर रोज ना जाने हम विज्ञान की मदद से बनाई गई कितनी तकनीकों और चीजों का इस्तेमाल करते हैं. इतना हीं नहीं इसके जरिए ही हम लोग नामुकिन चीजों को मुमकिन बनाने में कामयाबी भी रहे हैं. विज्ञान की मदद से ही हम अंतरिक्ष में पहुंचने से लेकर रोबोट, कंप्यूटर जैसी चीजे बनाने में सफल हो पाए हैं. ऐसे में विज्ञान हमारे जीवन में काफी महत्व रखता है और हर स्कूल में इस विषय को बच्चों को पढ़ाया जाता है. वहीं भारत ने विज्ञान के क्षेत्र में काफी योगदान दिया है. भारत की धरती पर कई महान वैज्ञानिकों ने जन्म लिया है और इन महान वैज्ञानिकों की बदौलत ही भारत ने विश्व भर में विज्ञान के क्षेत्र में अपना एक अलग ही औदा बनाया हुआ है ।

PRITI SINGH

Editor and Author with 5 Years Experience in INN24 News.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button