Chhattisgarh

एसईसीएल जीएम पर एफआईआर दर्ज करने सरपंच और ग्रामीणों ने कोरबा कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

कोरबा – जिले के खदान क्षेत्रों में फैली समस्याएं कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। खदान विस्तार में विस्थापन, बसावट और मुआवजा जैसे प्रकरणों के निराकरण देरी की वजह से प्रबंधन और ग्रामीणों में आपसी तालमेल नहीं बैठ रहा है। जिस वजह से आए दिन आंदोलन की खबरें आती रहती है। इसी बीच ताजा मामला ग्राम भिलाई बाज़ार का है जहां के सरपंच चंद्रभान सिंह ने ग्रामीणों के साथ मिलकर कोरबा कलेक्टर को ज्ञापन सौंपते हुए गेवरा एरिया के महाप्रबंधक पर निजता के हनन का आरोप लगाते हुए एफआईआर करने की बात कही है। ग्राम भिलाई बाजार सरपंच ने पत्र के माध्यम से कोरबा कलेक्टर को बताया कि दिनांक 12/05/2024 को ग्राम पंचायत मिलाई बाजार के समस्त ग्रामवासियों द्वारा एस.ई.सी. एल गेवरा प्रबंधन के द्वारा किये गये कार्य के संबंध में बैठक कर निम्नांकित बिंदुओं पर चर्चा कर प्रस्ताव पारित किया गया है। जिसमें क्रमशः 1. यह कि दिनांक 18/03/2024 को ग्राम पंचायत भीलाई बाजार में पंचायत के बिना अनुमति एवं पूर्व सूचना दिए ड्रोन कैमरा पूरे गांव में घुमाया गया बाद में जानकारी लिए जाने पर पता चला कि ड्रोन कैमरा एस.ई.सी.एल गेवरा महा प्रबंधक एस के मोहन्ती के द्वारा कराया गया जो कि कदापि न्यायोचित नहीं है। हमारे ग्राम मिलाई बाजार ग्रामीण परिवेश जो कि 6 वीं अनुसूची के अन्तर्गत आता है। ग्राम में बिना किसी सूचना ड्रोन कैमरा द्वारा सर्वे करया गया। जिससे ग्रामीणों में दहशत है और निजिता का भी हनन एसई सी. एल. गेवरा प्रबंधन के द्वारा किया गया है। जिसके कारण ग्रामवासियों में रोष व्याप्त है एवं एस.ई सी.एल. गेवरा महा प्रबंधक के प्रति एफ आई आर दर्ज कर कार्यवाही करने का कष्ट करें । 2. यह कि ग्राम मिलाई बाजार खदान प्रभावित क्षेत्र है जहां से खदान की दूरी महज 300 मी. दूरी पर है वहां पर प्रबंधन को मना करने के उपरांत भी हैवी ब्लास्टिंग किया जा रहा है। पूर्व में जिला प्रशासन द्वारा प्रबंधन को समझाईस दिये जा चुके हैं उसके उपरात भी हैवी ब्लास्टिंग किया जा रहा है। विरोध किये जाने पर यह कहा जाता है कि हम नियमानुसार ही ब्लास्टिंग करते है। भीलाई बाजार चौक में Seismo Meter / रियेक्टर स्केल कि स्थापना किया जाये जिससे भूकंपन को मापा जा सके। 3. यह कि ग्राम मिलाई बाजार आश्रित मोहल्ला खदान से प्रभावित होने के कारण वहां का जल स्तर नीचे चला गया है जिसके कारण गांव के कुआ एवं बोर सुख गया है जिससे ग्रामीणों को पीने के पानी के लिए जुझना पड़ रहा है। उपरोक्त समस्याओं के निदान के लिए कलेक्टर से समाधान की अपील की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button