Chhattisgarh

भैरोताल प्रेमनगर में मनाई गई बाबा साहब की जयंती, पार्षद सहित गणमान्य जन रहे मौजूद

Charanकोरबा – जिले के वार्ड 57 भैरोताल प्रेम नगर सामुदायिक भवन में बाबा साहब भीमराव अंबेडकर जयंती मनाया गया ,इस अवसर पर उनके विचारों देश और शुद्र वर्ग के लिए किए अमूल्य योगदान की प्रासंगिकता पर गोष्ठी आयोजित किया गया,बाबा साहब के छाया चित्र पर पुष्प अर्पण कर,कार्यक्रम शुरू किया गया ,हीरा लाल साहू द्वारा उनके जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा गया कि आज तक उनके जैसा शिक्षा ग्रहण करने वाले कोई नहीं है,शिक्षा एकता और संघर्ष ही वंचितों का आगे बढ़ने का साधन है। वरिष्ठ समाज सेवी जनक दास कुलदीप ने बाबा साहब को याद करते हुए कहा कि आज देश को बचाने बाबा साहब के संविधान जिससे देश एकता अखंडता भाईचारा के साथ उत्तरोत्तर विकास की ओर बढ़ रही थी,आजादी के बाद भी शुद्र वर्ग गरीबों महिलाओं का शोषण जारी है ,सामंतवादी व्यवस्था जिस मनुवाद को अपना संविधान मानती थी ,आज पुनः भारतीय संविधान को समाप्त कर मौलिक अधिकारों को खतम करना चाहते है और वर्ण व्यवस्था जाति संप्रदाय को धार्मिक स्वरूप में मीडिया को गुलाम बना कर अंधविश्वास के जाल में युवाओं को दिग्भ्रमित किया जा रहा है,ताकि संघ का उद्देश्य देश की जनता को अशिक्षित रख ,95%जनता को गरीब सर्वहारा बनाकर देश की संपदा जल जंगल जमीन चंद उद्योगपतियों के हाथ सौंप जा रहा है,बाबा साहब और दलित आदिवासी पिछड़े वर्ग को जिस प्रकार अछूत समझा जाता रहा पुनः वही स्थिति निर्मित किया जा रहा है,आरक्षण को गाली बना दिया गया और लोगो के बीच फूट पैदा की जा रही है।जबकि तत्कालीन व्यवस्था की मजबूरी बन गई थी,अन्यथा मुस्लिम राष्ट्र के साथ शुद्र वर्ग (एससी एसटी ओबीसी) यानी कर्मकार वर्ग का 85% भू भाग का अलग एक और देश बन जाता ,मगर चालाकी षड्यंत्र से रोका गया , वर्तमान में आरक्षण का कोई औचित्य ही नहीं है, क्योंकि शिक्षा का निजीकरण महंगीकरण कर वंचित किया जा रहा है इसी तरह रोजगार देने वाले सार्वजनिक क्षेत्र को बेचा जा रहा है,करोड़ों पद खाली है मगर भरा नहीं जा रहा । जिससे स्पष्ट है जनता को धार्मिक अंधविश्वास के भुलावे में रखकर देश की लोकतंत्र को ध्वस्त कर पूंजीवादी सामंती व्यवस्था लाने का षड्यंत्र जारी है।वंचित वर्ग को सभी भेदभाव भुलाकर बाबा साहब के बताए मार्ग और देश की आत्मा संविधान को बचाने की ओर ध्यान देना होगा। सुभाष बंजारे ने कहा कि बाबा साहब को जिस प्रकार अछूत समझा जाता रहा,अब उनके संविधान को भी अछूत घोषित किया जा रहा है ताकि सदियों तक शुद्र वर्ग का शोषण जारी रहे । सु श्री सुरती कुलदीप ने कार्यक्रम समापन करते हुए कहा कि आज महिलाओं को शिक्षा समानता का अधिकार बाबा साहब ने दिलाया और देश की एकता अखंडता संप्रभुता संविधान से ही संभव है,इसे खतम करना देश की बरबादी होगी सभी को संविधान की शिक्षा का अलख जगाना होगा ।कार्यक्रम का संचालन श्री लखन कठोतिया द्वारा किया गया इस अवसर पर संविधान की प्रस्तावना का शपथ लिया गया। कार्यक्रम में वरिष्ठ शिक्षक एलपी साहू ,भागीरथी , सोमेश भगत, होरी लाल चौहान ,सूरज लाल चंद्रा लछमी विश्वकर्मा ,ललित चंद्रा ,मितानिन अनिता ,चतुर्भुज यादव ,, लखन कठोतिया ,,मंगतू दास,, व वरिष्ठ ग्रामवासी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button