AAj Tak Ki khabarChhattisgarhKorbaTaza Khabar

आईपीएस-दीपका समर कैंप में बच्चे सीख रहे आर्ट एण्ड क्राफ्ट

सीखा हुआ ज्ञान स्थायी और अविस्मरणीय होता है-डॉ.संजय गुप्ता।

रंग एवं रंगीन चीजें किसे अच्छी नहीं लगती।बिना रंगों के जीवन नीरस और बोझिल लगती है।रंगों का प्रत्येक प्राणी के जीवन में खास महत्व है। हमारे चारों फ्तरफ हमें प्रत्येक चीज रंगीन नजर आती है।चाहे वो नीला आसमान हो;काले बादल हों;सूरज की लालिमा हो या धरती में फैली हरियाली हो।कहने का तात्पर्य यह है कि ईश्वर ने कितनी प्यारी दुनिया बनाई है कि चारों तरफ र्रगों की छटा बिखेर दी है।रंग वैसे तो कई होते हैं;लेकिन मूल रंग तीन हैं-लाल;नीला और पीला।इन्ही रंगों से मिलकर अन्य रंग अपना रुप लेते हैं।
दीपका स्थित इंडस पब्लिक स्कूल में चल रहे समर कैंप में बच्चों को विभिन्न प्रकार के चित्र बनाकर उसमें रंग भरने का प्रशिक्षण दिया जा रहा है।बच्चे अनेक प्रकार के चित्रों में विभिन्न प्रकार के रंगों का उपयोग कर उसको और आकर्षक बनाने की कला सीख रहे हैं।प्रत्येक बच्चा अपनी कल्पना के अनुसार अनेक प्रकार के चित्रों को ड्रा कर उसमें रंगा भरता है।कोई बेटी बचाओ;बेटी पढ़ाओ तो कोई वन संरक्षण का सुंदर संदेश चित्रों के माध्यम से अभिव्यक्त करता है। इंडस पब्लिक स्कूल के समर कैंप में चल रहे आर्ट एण्ड क्राफ्ट प्रषिक्षण में बच्चे अलग-अलग प्रकार की कलाकृतियों के माध्यम से अपनी भावनाओं को व्यक्त कर रहे हैं।

बच्चों को बेस्ट आउट ऑफ वेस्ट का प्रशिक्षण भी समर कैंप में दिया जा रहा है।बेकार समझे जाने वाले रद्दी अखबार से भी बच्चे अनेक कलाकृतियाँ बनाना सीख रहे हैं।कोई गुड़िया बनाकर रंग भरता है तो कोई टोकरी बनाकर खुश हो जाता है।आइसक्रीम खाकर बेकार समझकर फेंक दिए जाने वाले आइस स्टिक से भी आकर्षक पेन स्टेंड एवं फ्लावर पॉट इत्यादि बनाना सीख रहे हैं।बच्चों को फोटो फ्रेम;सीनरी;ग्रीटिंग कार्ड;और पेपर से विभिन्न प्रकार के फूल बनाने का प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

मुख्य प्रशिक्षक अंशुल रानी तथा मधुचंदा पात्रा ने बताया कि विभिन्न प्रकार के रंगों के उपयोग से बच्चे जहाँ एक ओर रंगों के महत्व से वाकिफ होते हैं वहीं अलग-अलग प्रकार के चित्रों को बनाकर हम अपनी भावनाओं को भी व्यक्त करते हैं। आर्ट एण्ड क्राफ्ट के माध्यम से हम वस्तुओं के महत्व समझकर उसको सदा उपयोग करने लायक बनाते हैं और जिससे कि हमारी कलात्मकता में भी निखर आता है।निरंतर क्रियाशील रहने से हमारी कल्पनाशीलता भी बढ़ती है और हम बहुत सारी चीजें सीख जातें हैं। गौरतलब है कि आर्ट एंड क्राफ्ट प्रशिक्षण में श्रीमती अंशुल रानी,श्रीमती मधु चंदा पात्रा के साथ कुमारी जोया हानफी भी सक्रिय भूमिका निभा रही हैं।

वहीं विद्यालय में संचालित समर कैंप में पपेट शो एवं स्टोरी टेलिंग के भी बेहतरीन प्रशिक्षण विद्यार्थियों को प्रदान किया जा रहा है। विभिन्न प्रकार की कहानियों को कठपुतलियों के माध्यम से अपनी मजेदार मनोरंजक वाणी में शिक्षिकाएं बच्चों के समक्ष व्यक्त करती हैं ।जिसका सभी विद्यार्थी भरपूर आनंद ले रहे हैं ।विद्यार्थियों को भी पपेट शो का हिस्सा बनने के लिए प्रेरित किया जाता है ।विद्यार्थियों को मोटिवेट किया जाता है कि वह भी पपेट शो में अपनी भावनाएं व्यक्त करने के काबिल है। शेर ,भालू ,हाथी ,हिरण, तोता गीदड़ इत्यादि छोटे-मोटे कठपुतलियों के खिलौने देखकर विद्यार्थियों के चेहरे में सहज मुस्कान आ जाती है और पपेट शो में जब इन निर्जीव खिलौनों को वह बोलते हुए देखते व सुनते हैं तो और ज्यादा रोमांचित हो जाते हैं।
स्टोरी टेलिंग एक्टिविटी के अंतर्गत विद्यार्थियों को रोजाना अलग अलग स्टोरी प्रेजेंट करने को मोटिवेट किया जाता है। सभी विद्यार्थी मंच पर आकर विभिन्न प्रकार की कहानियों से एक नया संदेश देते हैं। स्टोरी टेलिंग से विद्यार्थियों में आत्मविश्वास का संचार होता है ।उनमें उत्साह का संचार होता है ।प्रतिदिन विद्यार्थी अलग-अलग कहानियों को मंच पर प्रस्तुत करते हैं ।जिससे न सिर्फ उनमें स्वयं की भावनाओं को व्यक्त करने की कला का विकास होता है अपितु उनके मन से झिझक भी दूर हो जाती है। पपेट शो एवं स्टोरी टेलिंग में खुशबू प्रवीण एवं अनम अंसारी सक्रिय भूमिका निभा रही है एवं बच्चों के टैलेंट को निखारने ने में लगातार प्रयासरत हैं।

इंडस पब्लिक स्कूल के प्राचार्य डॉ. संजय गुप्ता ने बताया कि स्कूल में चारों तरफ सीखने का ही माहौल होना चाहिए। क्योंकि सीखा हुआ ज्ञान स्थायी और अविस्मरणीय होता है।आर्ट एण्ड क्राफ्ट के प्रशिक्षण से बच्चे छुट्टियों का सदुपयोग कर स्मरणीय बना सकते हैं।विभिन्न प्रकार के रंगों के महत्व को समझकर बच्चे अपनी अपनी प्रतिभा को नया आकार दे सकते हैं।हमारे विद्यालय में समर कैंप में ।आर्ट एण्ड क्राफ्ट के अलावा भी विभिन्न प्रकार का प्रशिक्षण दिया जा रहा है; जैसे- डांस; म्यूजिक; स्पार्ट्स; योगा; साइकोमेट्रिकड्रिल इत्यादि।हमारा उद्देश्य मात्र बच्चों के समय का सदुपयोग कर उन्हें भविष्य के लिए तैयार करना है। समर कैंप में बच्चों के व्यक्तित्व का संपूर्ण विकास करने का प्रयास किया जाता है । विभिन्न प्रकार की एक्टिविटीज में बच्चे सक्रिय रहते हैं ।उनमें नेतृत्व ,अनुशासन ,सहयोग एवं आत्मविश्वास ,सहिष्णुता सहित विभिन्न नैतिक मूल्यों का सतत विकास होता है।प्रत्येक विद्यार्थी को समर कैंप अवश्य ज्वाइन करना चाहिए।यह हर स्तर से विद्यार्थियों के लिए लाभदायक है।

PRITI SINGH

Editor and Author with 5 Years Experience in INN24 News.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button