AAj Tak Ki khabar

सटोरियों से मिले बैंक खातों में हुए 140 करोड़ रुपए के लेनदेन,कोरबा पुलिस ने आमजनो से की अपील

सतपाल सिंह

कोरबा – बीते दिन गोवा से गिरफ्तार हुए सटोरियों से पैनल संचालन हेतु उपयोग किये जाने वाले कुल 142 बैंक खातों की जानकारी हुई है। जिसमें मनी ट्रेल का विश्लेषण किया जा रहा है। बैंक खातों में जमा राशियों को होल्ड / फ्रीज कराने हेतु विधिवत् कार्यवाही किया गया है साथ ही पुलिस के द्वारा अलग-अलग बैंकों के 142 खातों को कराया गया फिज जिसमे 40 लाख रूपये को होल्ड कराया गया। सटोरियों के विभिन्न बैंक खातों मे लगभग 140 करोड़ से अधिक का लेनदेन पाया गया।

कोरबा पुलिस नागरिकों से यह अपील करती है कि अपना बैंक खाता एटीएम एवं पासबुक को किसी भरोसे एवं अनजान को किराए पर ना दे।

  कोरबा पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ तिवारी एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री यू.बी.एस. चौहान द्वारा नगर पुलिस अधीक्षक दर्री रविंद्र कुमार मीना एवं कोरबा पुलिस के समस्त पुलिस राजपत्रित अधिकारियों, थाना प्रभारियों सहित प्रभारी सायबर सेल को आई.पी.एल. क्रिकेट मैच 2024 के सीजन में क्रिकेट मैच के दौरान सट्टा खेलने / खिलाने वालों एवं इस कारोबार में संलिप्त लोगों की पतासाजी कर आवश्यक कार्यवाही करने के साथ ही क्रिकेट सट्टा के कारोबार पर प्रभावी रूप से अंकुश लगाने हेतु निर्देशित किया गया था।

          जिस पर पुलिस के द्वारा सट्टा संचालन करने वाले एवं उसके साथियों को पकड़ा गया है। पकड़ने के पश्चात पुलिस एवं साइबर सेल के द्वारा सटोरियों के बैंक खातों का विश्लेषण किया गया। विश्लेषण में यह पाया गया की सटोरियों के विभिन्न बैंक खातों को लोगों के द्वारा किराए पर उपलब्ध कराया जाता था जिस पर सटोरियों के द्वारा उसे बैंक खातों का गलत तरीके से पैसे का लेनदेन किया जा रहा था। उन सब 142 विभिन्न बैंक खातों को साइबर सेल एवं पुलिस के द्वारा उन सभी बैंक खातों की जानकारी बैंकों से प्राप्त कर उसमें विश्लेषण किया गया उन सभी बैंक खातों में लगभग 140 करोड़ का ट्रांजैक्शन हुआ था एवं उन सभी बैंक खातों को फ्रिज कराया गया उन सभी बैंक खातों में लगभग 40 लाख रुपए को पुलिस के द्वारा होल्ड कराया गया। टीम के द्वारा खातों का बारीकी से विश्लेषण अभी और किया जा रहा है।

        कोरबा पुलिस आम नागरिकों से यह अपील करती है कि अपने किसी भरोसे के आदमी को अपने बैंक खातों तो इस्तेमाल करने के लिए एटीएम पासबुक, चेक को किसी को ना दे और ना ही किसी को किराए एवं किसी अनजान व्यक्ति को अपने बैंक खातों की जानकारी को ना दें अगर उन खातों का किसी अपराध में उपयोग होता है तो पुलिस के द्वारा उन खाताधारकों के ऊपर कठोर कार्यवाही किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button