AAj Tak Ki khabarChhattisgarhExclusiveKorba

कोरबा – दिया हुआ पैसा वापस मांगने पर नही लौटाया तो पास्टर ने उठाया आत्मघाती कदम, मौत… सुसाइड नोट में बताई आपबीती

कोरबा – अमूमन पैसे लेकर नही लौटा पाने की स्थिति में आपने आत्महत्या के अनेकों मामले देखे और सुने होंगे,परंतु पैसे भी दिए और जान भी ऐसा मामला बहुत कम ही होता है,पैसे देकर वापस नहीं मिलने पर दुखी एक व्यक्ति ने आत्महत्या कर ली और अपनी व्यथा सुसाइड नोट में लिख डाला।

मिली जानकारी के अनुसार जिले के कुसमुंडा थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम बाता निवासी पास्टर रमाशंकर पाटले ने दो लोगों को 11 लाख रूपया दिया था। लेकिन दोनों व्यक्ति रुपए वापस नहीं लौटा रहे थे, जिससे परेशान होकर उसने आत्महत्या कर ली। मृत्यु से पहले पास्टर ने एक सुसाइड नोट लिखा है और एक वॉइस रिकॉर्डिंग भी की है, जिससे पूरे मामले का खुलासा होता है। बताया जा रहा है की पास्टर रमाशंकर पाटले ने कोरबा से शरद एस मसीह को 6 लाख रुपये और बांकीमोंगरा के रंजीत रात्रे को 5 लाख रुपये दे रखा था। लेकिन दोनों ही रुपये वापस नहीं दे रहे थे। रंजीत रात्रे ने तो कटघोरा थाना में कथित रूप से पास्टर को बुलवाया, जहां उसे धमकाया गया। शरद एस मसीह भी पैसा देने में आनाकानी कर रहा था। बताते हैं कि शरद एस मसीह पिछले कुछ माह से रायपुर जाकर रहने लगा है।इतनी बड़ी रकम वापस नहीं मिलने से पास्टर रमाशंकर पाटले परेशान और तनाव में थे। कथित रूप से इसी वजह से पास्टर ने गुरुवार को जहरीले पदार्थ का सेवन कर लिया। उन्हें उपचार के लिए अस्पताल में दाखिल करेगा गया, लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका। शुक्रवार को उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई।इस मामले में एक सुसाइड नोट मिला है, जिसे मृतक पास्टर रमाशंकर पाटले द्वारा लिखा गया बताया जा रहा है। पास्टर की वाइस रिकार्डिंग भी है, जो उन्होंने एक वरिष्ठ एडवोकेट को मृत्यु पूर्व भेजा है। देखें सुसाइड नोट की तस्वीर..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button