AAj Tak Ki khabar

डिजनीलेंड मेले में हुए मौत में आया नया मोड़,जहरीले जंतु के काटने से हुई थी तीनों व्यवसायियों की मौत…

डिजनीलेंड मेले में हुए मौत में आया नया मोड़,जहरीले जंतु के काटने से हुई थी तीनों व्यवसायियों की मौत…

कोरबा – बुधवारी स्थित मेला ग्राउंड में संचालित डिजनीलैंड मेले में बीते शनिवार की तड़के सुबह हुए दुखद घटनाक्रम में तीन व्यवसायियों की मौत हो गई, तीनो व्यवसाई अपने दो अन्य मित्रो के साथ देर रात एक साथ बैठ कर चिकन अंडा के साथ खाना खाए थे,तड़के सुबह उन्हे उल्टी और जी मचलने की शिकायत हुई,जिससे उन्हें आनन फानन में जिला अस्पताल लेजाया गया,जहां इलाज के दौरान तीनों व्यापारियों की मौत हो गई,घटना में प्रारंभिक तौर पर मौत की वजह फूड प्वाइजनिंग बताई जा रही थी परंतु पूरे घटना में फोरेंसिक की मदद से पता चला की दो व्यवसायियों की मौत किसी जहरीले जंतु के काटने से हुई है,हालांकि तीनों मृतकों के पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आने के उपरांत मौत के स्पष्ट कारणों का खुलासा होगा। देर शाम जिले के वन विभाग स्नैक रेस्क्यू टीम के प्रमुख व जितेंद्र सारथी से घटना की जानकारी साझा करते हुए चर्चा की तो उन्होंने प्राथमिक तौर पर मृतकों के शरीर पर मिले निशान के आधार पर स्नैक बाइट की आशंका जताई उनका कहना था कि अमूमन मेले परिसर और आसपास के। क्षेत्रों में बेहद ही जहरीले कैरेत सांपों का डेरा रहता है,मृतकों के शरीर पर दिखाई देने वाले निशान इसी सांप के हो सकते हैं,चुकी मृतक गहरी नींद में थे,सर्प दंश कुछ देर बाद उन्हें उल्टी जी मचलने,सांस लेने में दिक्कत की शिकायत हुई जो अक्सर इसी जहरीले करेत सांप के काटने की वजह से होता है और करेत सांप द्वारा काटने के निशान भी बेहद मामूली और छोटे से होते हैं। जिन्हे नग्न आंखों से देखना मुश्किल होता है। फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है,पोस्टमार्टम की रिपोर्ट के आधार पर मृतकों के मौत का स्पष्ट कारण सामने आएगा। आपको बता दें इस घटना में मरने वालें में 18 वर्षीय समीर बैग निवासी भिंड जिला मध्यप्रदेश, 17 वर्षीय सुहेल बैग,अनिल कुमार पांडेय कानपुर उत्तर प्रदेश हैं। जिन्होंने अपने दो अन्य साथियों के साथ देर रात अंडा करी और चिकन खाया और जमीन में चटाई गद्दे बिछा कर सो गए,देर रात दो लोगों की तबियत बिगड़ने पर उन्हें अस्पताल लेजाया गया जहां उनकी इलाज के दौरान मौत हो गई वहीं एक सुहेल की मेले में ही मौत हो गई,जिसे अस्पताल ले जाया गया तो डॉक्टरों ने उसे भी जांच उपरांत मृत घोषित कर दिया। घटना के बाद मृतकों के परिजन दीगर राज्यों से कोरबा पहुंचे उनकी उपस्थिति में मृतकों का पोस्टमार्टम किया गया है। रिपोर्ट आनी बाकी है। इस घटना दुखद घटना से मृतको के परिजनों में शोक की लहर है। इधर घटना के बाद देर शाम मेले का संचालन बंद रहा। जानकार बताते है की अगर मृतकों की मौत सर्प दंश से हुई होगी तो शासन द्वारा मृतकों को 4 – 4 लाख रुपए मुआवजा राशि मिल सकती है,जिसे जांच व कुछ कागजी कार्यवाही उपरांत उनके परिजनों को सौप दिया जाएगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button