AAj Tak Ki khabarBalco NewsChhattisgarhKorbaTaza Khabar

बालको के ऊर्जा संरक्षण अभियान से संयंत्र और समुदाय में ऊर्जा बचत को मिला बढ़ावा

बालकोनगर : वेदांता समूह की कंपनी भारत एल्यूमिनियम कंपनी लिमिटेड (बालको) ने संयंत्र और समुदाय में एक स्थायी भविष्य के अपने संकल्प को मजबूत करने के लिए 15 दिवसीय ऊर्जा संरक्षण अभियान चलाया। राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस (14 दिसंबर) को शुरू किए गए अभियान के अंतर्गत संयंत्र, समुदाय और स्कूलों में जागरूकता कार्यक्रम चलाया गया। जिसका उद्देश्य ऊर्जा संरक्षण और स्थायी भविष्य की भावना को बढ़ावा देना था। अभियान में लगभग 1000 लोगों ने हिस्सा लिया।

भारत सरकार के ऊर्जा दक्षता ब्यूरो में प्रमाणित ऊर्जा लेखा-परीक्षक प्रोफेसर रामास्वामी महिन्दरन ने ऊर्जा संरक्षण पर आयोजित विशेष सत्र में लोगों को विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने एनर्जी इफीसिएंसी और अनुकूलन के लिए औद्योगिक सर्वोत्तम प्रथाओं पर प्रकाश डाला, जिससे कर्मचारियों के पर्यावरणीय दृष्टिकोण की समझ को बढ़ावा मिला है। बालको ने कार्यस्थल में ऊर्जा खपत को कम करने के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए आकर्षक ऑनलाइन क्विज़ और प्रतियोगिता का आयोजन किया। कंपनी ने एक कारपूलिंग अभियान भी शुरू किया, जिससे कर्मचारियों को सवारी साझा करने के लिए प्रोत्साहित करना और पर्यावरण अनुकूल आवागमन संस्कृति को बढ़ावा दिया गया। कर्मचारियों को एनर्जी इफीसिएंसी की संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए स्थायी व्यावसायिक समाधान का प्रयास किया जा रहा है।

संयंत्र के साथ-साथ बालको युवा पीढ़ी में उर्जा संरक्षण की भावना पैदा करने के लिए विद्यालयों में ड्राइंग प्रतियोगिता का आयोजन किया। कंपनी ने आस-पास के गांवों में जागरूकता सत्र भी आयोजित किए, जिसमें पर्यावरण के लिए ऊर्जा संरक्षण के महत्व पर जोर दिया गया। विभिन्न आसान ऊर्जा बचत प्रथाओं को साझा किया गया जिन्हें घरों में अपनाया जा सकता है।

बालको के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं निदेशक श्री राजेश कुमार ने कहा कि हम बालको में पर्यावरणीय भविष्य के लिए प्रतिबद्ध हैं। हम अपने मिशन की आधारशिला के रूप में ऊर्जा-कुशल संस्कृति को लागू करने के लिए समर्पित हैं। हमारे विभिन्न पहल के माध्यम से संयंत्र के साथ समुदाय में जिम्मेदार ऊर्जा खपत को बढ़ावा देने की हमारी प्रतिज्ञा का प्रतीक है। नवाचार, जागरूकता और सहयोग के माध्यम से हम स्थायी और एनर्जी इफीसिएंसी व्यवसाय प्रथाओं को अपना रहे हैं जो हरित, पर्यावरण अनुकूल दुनिया की ओर सांस्कृतिक बदलाव को भी प्रेरित कर रहे हैं।

‘जीरो हार्म, जीरो वेस्ट और जीरो डिस्चार्ज’ के अपने दृष्टिकोण के अनुरूप बालको ने प्रचालन शुरू करने के बाद से अपने प्रचालन क्षेत्र में लगभग 30 लाख पौधे लगाए हैं। कंपनी अपने ऊर्जा स्रोत में विविधता लाने के लिए हरित विकल्प भी तलाश रही है। संयंत्र के अंदर भारी वाहनों में जैव ईंधन का उपयोग, फिनिश प्रोडक्ट और माल की आवाजाही के लिए ईवी फोर्कलिफ्ट और अपने विश्व स्तरीय स्मेल्टर में एनर्जी इफीसिएंसी ग्रेफाइटाइज्ड पॉट का प्रयोग जो उर्जा खपत को कम करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

एल्यूमीनियम बनाने की प्रक्रिया में पर्यावरण संरक्षण के प्रति अपनी प्रतिबद्धता के अनुरूप बालको को अपने स्थायी प्रयासों के लिए उद्योग जगत से मान्यता मिली है। फ्रॉस्ट एंड सुलिवन द्वारा ‘सस्टेनेबल फैक्ट्री ऑफ द ईयर’ और सीआईआई ग्रीन कंपनी रेटिंग सिस्टम में ‘ग्रीनको सिल्वर’ पुरस्कार हरित भविष्य को बढ़ावा देने के लिए कंपनी के कटिबद्धता को उजागर करते हैं।

PRITI SINGH

Editor and Author with 5 Years Experience in INN24 News.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button