Chhattisgarh

 नई सरकार ने पेंशनरों के उम्मीद पर पानी फेरा .. 01 जुलाई 23 से लंबित 4% महंगाई राहत को 01 मार्च से देना पेंशनरों के साथ घोर अन्याय .. ताटी

जगदलपुर inn24 (रविंद्र दास) छत्तीसगढ़ के कर्मचारी एवम पेंशनरों के साथ सरकार ने फिर एक बार छल किया है । मोदी की गारंटी की दुहाई करने वाली सरकार से ऐसी उम्मीद कतई नहीं थी । महज 4%महंगाई भत्ता/ राहत वो भी मार्च 24 की स्थिति में देना निःसंदेह कर्मचारियों और पेंशनरों के साथ धोखा है ।
कर्मचारियों और पेंशनरों की उम्मीदों पर नई सरकार ने पानी फेर दिया है जिसका खामियाजा निश्चित रूप से भुगतना पड़ सकता है !
उक्त बातें भारतीय राज्य पेंशनर्स महासंघ के राष्ट्रीय मंत्री एवम स्भागीय अध्यक्ष रामनारायण ताटी ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कही है ।
ताटी ने कहा मोदी की गारंटी की दुहाई देने वाली सरकार को इस तरह कर्मचारियों एवम पेंशनरों को ठगना कदापि उचित नहीं है ।
मोदी सरकार ने तो केंद्रीय कर्मचारियों को होली का तोहफा के रूप में 4% d a/d r जनवरी 24 की स्थिति में दे दिया है जिससे केंद्रीय कर्मचारियों एवम पेंशनरों का d a/d r बढ़कर जहां 50% हो गया है वहीं छत्तीसगढ़ के कर्मचारी एवम पेंशनर अभी 46% पर अटके हुए हैं ।
मध्यप्रदेश सरकार ने पुनर्गठन अधिनियम की धारा 49 ( 6 ) के पालन में छत्तीसगढ़ सरकार को पत्र प्रेषित कर पेंशनरों का महंगाई राहत 4% जुलाई 2023 से स्वीकृत करते हुए जुलाई से फरवरी तक का एरियर तीन किश्तों में देने तथा मार्च 2024 से नकद भुगतान हेतु सहमति चाहा गया किंतु छत्तीसगढ़ सरकार ने सहमति मार्च 2024 से ही प्रदान किया है ।इस तरह छत्तीसगढ़ सरकार के अड़ियल रवैय्ये के कारण छत्तीसगढ़ एवम मध्यप्रदेश दोनों ही प्रांतों के पेंशनरों को आठ महीने के एरियर्स राशि का नुकसान उठाना पड़ रहा है ।
सरकार के इस रवैया से कर्मचारियों एवम पेंशनरों में बेहद आक्रोश व्याप्त हो गया है ।
संगठन की ओर से यह मांग किया जाता है कि सरकार आठ महीने की एरियर्स राशि कर्मचारियों एवम पेंशनरों को मिले इस हेतु तत्काल आदेश जारी करे एवम होली के तोहफा के रूप में बकाया 4% d a /d r शीघ्र प्रदाय करते हुए मोदी की गारंटी पूरी करे ।
प्रेस विज्ञप्ति जारी करने वालों में आर एन ताटी , डी रामन्ना राव, अब्दुल सत्तार खान, रमापति दुबे, राजेंद्र पाण्डे, किशोर जाधव, एल एस नाग, दिनेश सिंघल, के नागेश ,रैमनदास झाड़ी,अय्यूब खान , गुज्जा रमेश , पी एन उरकुडे ,मोहम्मद कासिम ,शंभूनाथ देहारी,दिवाकर प्रसाद द्विवेदी ,सुरेश कुमार घाटौडे ,परिमल जैन ,नीलम जग्गी ,मीता मुखर्जी ,सरोज साहू ,जयमनी ठाकुर , वरलक्ष्मी पामभोई एवम राधा पामभोई शामिल हैं ।

Ravindra Das Bureau Bastar

ब्यूरो चीफ बस्तर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button