Chhattisgarh

कोरबा : सहकारी बैंक में कमिसन का खेल या झुठी शिकायत जांच का विषय।

कोरबा : सहकारी बैंक में कमिसन का खेल या झुठी शिकायत जांच का विषय कोरबा के एक किसान ने सहकारी बैंक में कमिसन लेने की शिकायत कलेक्टर से की है। दरअसल उपार्जन केंद्र में बेचे धान की राशि से जबरन रुपये लेने का आरोप प्रार्थी शिवनाथ सिंह कंवर ने लगाया है प्रार्थी अनुसार वह उसके पिता बुधनाथ सिंह कंवर धान का पैसा लेने सहकारी बैंक पहुंचे हुए थे। इस दौरान घंटों उन्हें लाइन पर खड़ा किया गया था। जैसे तैसे उनका नंबर आया। जहा उन्होंने 45000 आहरण किया। लेकिन उन्हें कैशियर के द्वारा 44500 रुपए कहीं भुगतान किया गया। किसान के द्वारा 500 रुपए के संबंध में पूछे जाने पर कैशियर के द्वारा अभद्र भाषा का उपयोग शिवनाथ व उसके पिता के साथ किया गया।


जब इस बात की पड़ताल हमारे द्वारा किया गया तब बैंक के कर्मचारियों द्वारा बताया गया कि कैशियर द्वारा किसी प्रकार की मांग नही की गयी है और प्रार्थी द्वारा पैसो को गिना तक नही गया है ऐसे में रुपये कम होने की शिकायत बेबुनियाद है सक्षम अधिकारी बैंक में लगे कैमरे की जांच कर सकते है।

बैंक कर्मचारियों द्वारा प्रार्थी शिवनाथ सिंह कंवर पिता बुधनाथ सिंह कंवर की शिकायत को झूठा बताया साथी ही प्रार्थी का पिछला इतिहास भी कुछ शक के दायरे में आता है ऐसा उनका कहना है, जैसे एक बार प्रार्थी की झड़प दीपका के पटवारी से हुई जिसकी शिकायत उन्होंने किया था जिसकी जांच के लिए तत्कालीन अधिकारी दीपका तहसीलदार को दी गयी , जांच से असंतुष्ट होकर जांचकर्ता तहसीलदार को ही दौड़ा कर मारने का प्रयास किया गया , जिसका मामला कटघोरा न्यायालय मे लम्बित है।(इस बात की पुष्टि हमने तत्कालीन तहसीलदार और वर्तमान सुरजपुर तहसीलदार वीरेंद्र श्रीवास्तव से फोन के माध्यम से की है)

ऐसे मामले में शिकायत की जांच सही दिशा में होनी चाहिए और झूठा पाए जाने पर कार्यवाही भी होनी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button