Chhattisgarh

कोयले के डीओ की अपेक्षा गाड़ियां हो गई हैं ज्यादा, कोरबा – कुसमुंडा मार्ग पर ट्रेलरों की लगी लंबी कतार से हल्के वाहनों की आवाजाही हो रही प्रभावित….

(डीओ – डिलीवरी ऑर्डर ) (टोकन – कोयला लदान के लिए मिलने वाली पर्ची)

कोरबा – जिले के कुसमुंडा क्षेत्र में जाम की समस्याएं कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। बीते 2 दिन से सड़कों पर भारी वाहनों की कतार कई किलोमीटर दूर तक लगी हुई है। बात करें आज शुक्रवार की तो बीते लगभग 6 घंटे से जो ट्रेलर जिस स्थान पर खड़ी है वह उसी स्थान पर खड़ी हुई थी,अपने स्थान से टस से मस नहीं हुई। इमली छापर रेल्वे फाटक खुलने के बावजूद ट्रेलर कई कई घंटो तक एक इंच आगे नही बढ़ें। कुसमुंडा खदान भीतर लगभग ५०० गाड़ियां खड़ी है,और बाहर भी लगभग उतनी ही है,ऐसे में कुसमुंडा खदान जाने वाली खाली ट्रेलरों की कतार थाना चौक से इमली छापर फाटक से दाएं तरफ खमरिया वैशाली नगर को पार कर चुकी हैं। वहीं रात में यह लेन बरमपुर मोड तक पहुंच गई थी।

Realme का गेम ख़त्म करने आ रहा Poco का यह धाकड़ स्मार्टफोन,AI फोटू क्वालिटी से लड़कियों को करेंगा मदहोश

इस दौरान अन्य कोयला लोड वाहन जो बांकी मोंगरा को ओर जाना चाहते है वे भी इन्ही ट्रेलरों के मध्य फंसे हुए हैं। कुछ बुद्धिजीवी चालक ट्रेलरों को ओवरटेक कर आगे बढ़ रहे हैं ऐसे में सामने से आ रहे वाहनों को आवागमन के लिए रास्ता नही मिल रहा जिससे जाम की स्थिति निर्मित हो रही है। भारी वाहनों के सड़कों पर खड़े होने से क्षेत्र के व्यवसायी भी काफी दुखी हैं। उनके व्यवसाय पर इसका सीधा असर पड़ रहा है। कुसमुंडा प्रबंधन के एक अधिकारी ने बताया की कोयला डिलीवरी ऑर्डर वर्तमान में सीमित है परंतु कोयला लदान हेतु कुसमुंडा खदान आने वाले भारी वाहनों की संख्या में बड़ी बढ़ोतरी हुई है,अभी खदान अंदर लगभग ३०० से ४०० ट्रेलर है, हम २०० से ३०० और ट्रेलरो के खड़े होने की व्यवस्था पर काम कर रहे हैं,वहीं थाना चौक पर भी भारी वाहनों के पार्किंग के लिए व्यवस्था सिस्टेमटिक ढंग से बनाने पर भी कार्य योजना बनाई जा रही है। आने वाले २ से ३ दिन में स्थिति सुधरेगी।

5G की दुनिया में हंगामा मचाने आ रहा Vivo का धांसू स्मार्टफोन,कैमरा क्वालिटी के साथ मिलेंगे स्मार्ट फीचर्स भी

कोयले के डीओ की अपेक्षा गाड़ियां हो गई हैं ज्यादा, कोरबा – कुसमुंडा मार्ग पर ट्रेलरों की लगी लंबी कतार से हल्के वाहनों की आवाजाही हो रही प्रभावित….

आपको बता दें कोरबा, गेवरा और बांकी मोंगरा की ओर से कुसमुंडा खदान कोयला लदान करने आने वाली खाली गाड़ियां टोकन नही मिलने पर भी खदान प्रवेश करने वाले लेन में खड़ी रहती हैं,जिससे टोकन मिलने वाले वाहन भी आगे नहीं बढ़ पा रहें है। जिससे वाहनों की कतार लगातार बढ़ रही है। भारी वाहनों की जब तक खदान अथवा खदान के बाहर पार्किंग की समुचित व्यवस्था नहीं की जाती तब तक ऐसी स्थिति देखने को मिलते रहेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button