हैवानियत इस क़दर दिखी जहा दरिंदगी के बाद इतनी जोर से दबाया मासूम का गला कि निकल आईं आखें. || INN24

हैवानियत इस क़दर दिखी जहा दरिंदगी के बाद इतनी जोर से दबाया मासूम का गला कि निकल आईं आखें.

Total Views : 64
Zoom In Zoom Out Read Later Print

गांव में पहली कक्षा में पढ़ने वाली मासूम बच्ची को एक हैवान शनिवार को स्कूल से घर लौटते समय जगंल ले गया और उसके साथ दुष्कर्म किया.

राजस्थान: नहीं थम रही हैवानियत की जंग फिर से एक बच्ची हुई इस हैयनीयत की शिकार. हवनीयत इस क़दर की बच्ची की आँखे भी नोच लिए गए.  हैदराबाद में महिला पशु चिकित्सक के साथ सामूहिक दुष्कर्म के बाद हत्या का मामला शांत भी नहीं हुआ है कि राजस्थान के टोंक में एक मासूम के साथ इसी तरह की दरिंदगी का मामला सामने आया है. टोंक जिले के खेड़ली गांव में पहली कक्षा में पढ़ने वाली मासूम बच्ची को एक हैवान शनिवार को स्कूल से घर लौटते समय जगंल ले गया और उसके साथ दुष्कर्म किया.
इसके बाद बच्ची की बेल्ट से ही उसकी गला दबाकर हत्या कर दी। दरिंदे ने इतनी जोर से बच्ची का गला दबाया कि उसकी आंखे बाहर निकल गईं. रविवार को बच्ची का शव मिलने के बाद से स्थानीय लोगों में आक्रोश है. पुलिस अधीक्षक (एसपी) आदर्श सिंधु ने घटनास्थल पर पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया। हालांकि देर रात तक आरोपी का कोई सुराग नहीं मिल पाया.

टॉफी-कचौरी खिलाने के बहाने ले गया था आरोपी
माना जा रहा है कि आरोपी बच्ची को पहले से जानता था. वह उसे टॉफी और कचौरी खिलाने के बहाने जंगल में ले गया और वहां उसके साथ हैवानियत को अंजाम दिया. बच्ची का शव स्कूल से 300 मीटर दूर जंगल में मिला है। उसके गले में बेल्ट लिपटी हुई है. पास में ही बीयर और शराब की बोतलों के साथ कचौरी के टुकड़े और टॉफी के रेपर मिले हैं.
भाजपा का कांग्रेस पर हमला
राजस्थान से सांसद राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने इस घटना को लेकर कांग्रेस सरकार पर हमला बोला है. उन्होंने कहा कि राज्य में जब से कांग्रेस सरकार आई है तब से पुलिस का डर खत्म हो गया है. पुलिस अधिकारियों की जातियां देखकर उनकी फील्ड में नियुक्तियां की जा रही हैं. न बच्चे सुरक्षित हैं और न बड़े। टोंक की घटना इसका जीता-जागता उदाहरण है.


See More

Latest Photos