कोरबा: प्रेमिका ने ही उतारा था शख्स को मौत के घाट.. नरईबोध के कुएं में मिले लाश का मामला सुलझने के कगार पर.. वजह जानकर आप भी रह जाएंगे दंग.. || INN24

कोरबा: प्रेमिका ने ही उतारा था शख्स को मौत के घाट.. नरईबोध के कुएं में मिले लाश का मामला सुलझने के कगार पर.. वजह जानकर आप भी रह जाएंगे दंग..

Total Views : 4,911
Zoom In Zoom Out Read Later Print

महेंद्र ने दो शादियां की थी और दोनों ही असफल रही जबकि उसका अवैध सम्बन्ध नरईबोध की एक महिला से बीते 3-4 वर्षो से चल रहा था.

कल सुबह कुसमुंडा थानाक्षेत्र के नरईबोध के एक बावलीनुमा कुंए में मिली लाश का मामला लगभग सुलझ चुका है. पुलिस ने शव बरामदगी के महज 24 घण्टे के भीतर इस पूरे अंधे कत्ल की परत खोलकर रख दी है. मरने वाले शख्स की हत्या की गई थी. कत्ल के वारदात को किसी और ने नही बल्कि खुद महेन्द्रपाल की प्रेमिका और उसके एक भाई और बहन मिलकर अंजाम दिया था. अपनी करतूतों को छिपाने के लिए उन्होंने महेंद्र की लाश को कुंए में डाल दिया था जबकि उसकी साइकिल भी वहां रख दी थी. इस तरह वह इस पूरे मामले को दुर्घटना का शक्ल देना चाहते है. लेकिन पुलिस की बारीकी से की गई तफ्तीश और पूछताछ में उनकी यह कोशिश कारगर साबित नही हुई.

दरअसल लाश मिलने के बाद से ही पुलिस मृतक के शिनाख्ती के प्रयास में जुटी हुई थी. इस दौरान नरईबोध के कुछ लोगो ने बताया कि महेंद्र अक्सर नरईबोध आया करता था. वह नरईबोध अपने प्रेमिका से भेंट करने आता था और उसके घर पर रुकता भी था. बता दे कि महेंद्र ने दो शादियां की थी और दोनों ही असफल रही जबकि उसका अवैध सम्बन्ध नरईबोध की एक महिला से बीते 3-4 वर्षो से चल रहा था. पुलिस के लिए यह सुराग बेहद अहम साबित हुई और फिर उन्होंने उसकी प्रेमिका पर शिकंजा कसना शुरू किया.

जानकारी के मुताबिक महेंद्र को किसी करीबी का जमानत लेना था. इसके लिए उसे भू पट्टे की पर्ची की आवश्यकता थी. महेंद्र ने यह पर्ची अपनी प्रेमिका से हासिल कर लिया था. प्रेमिका ने उसे अपने परिजनों का पर्ची-पट्टा करीब सालभर पहले दिया था. इसके बाद से प्रेमिका पर्ची वापिस करने की मांग महेंद्र से कर रही थी लेकिन किन्ही वजहों से वह यह पर्ची उसे वापिस नही कर रहा था. इसी बात को लेकर महेंद्र का अपनी प्रेमिका और उसके भाई व बहन से अक्सर विवाद भी होता रहता था. दूसरी तरफ प्रेमिका के परिजन भी प्रेमिका से पट्टा-पर्ची वापिस कराने का दबाव बनाते रहते थे.

बताया जा रहा है कि इसी बात से खफा होकर प्रेमिका और उसके भाई-बहन ने महेंद्र को सबक सिखाने की योजना तैयार की. शराब का आदी हो चुका महेंद्र जब पिछले सप्ताह नरईबोध आया हुआ था तभी उसे घर पर शराब पिलाया गया. शराब के नशे में जैसे ही महेंद्र मदहोश हुआ प्रेमिका ने बांस के डण्डे से महेंद्र के सिर पर जोरदार वार कर दिया. इसके बाद उसके भाई और बहन ने महेंद्र का गला भी दबा दिया. महेंद्र की जब सांसे थम गई तो उन्होंने बड़ी चालाकी से उसकी लाश को पास के बावली में डाल दिया और उसकी सायकल भी पास ही रख दिया. इतना ही नही बल्कि उसके जेब मे कई अलग अलग पहचान पत्र और एक कॉन्डोम का पैकेट भी रखा गया था. यह पूरी कोशिश पुलिस को गुमराह करने के लिए की गई थी.

बहरहाल पुलिस इस पूरे मामले में अभी आरोपियों से कड़ाई से पूछताछ कर रही है. सम्भवतः जल्द ही इस पूरे प्रकरण में वह खुलासा करें. वही महज 24 घण्टे में मामले का खुलासा होने से पुलिस ने भी राहत की सांस ली है. उनकी तत्परता और बारीकी से की गई छानबीन की वजह से कत्ल की वारदात को छिपाने की आरोपियों की कोशिश धरी की धरी रह गई.



See More

Latest Photos