Chhattisgarh

एसईसीएल की ठेका कंपनी ने झूठे केश में फंसाया, न्यायालय ने किया दोष मुक्तक्यू

एसईसीएल की ठेका कंपनी ने झूठे केश में फंसाया, न्यायालय ने किया दोष मुक्त….

कोरबा – वर्ष 2021 में जिले की एसईसीएल कुसमुंडा खदान में नियोजित ठेका कंपनी नारायणी कंपनी के अधिकारियों के साथ मिलीभगत कर रामनाथ नामक कर्मचारी के द्वारा कुसमुंडा थाने में शिकायत दर्ज कराई की उसके साथ कंपनी के ही कुछ कामगारों ने मारपीट करते हुए उसके साथ लूटपाट की घटना को अंजाम दिया है। इन कामगारों में विनोद सारथी,देवनाथ नामदेव, नरेश महंत, हेमंत नामदेव सहित एक अन्य पर पर कुसमुंडा पुलिस द्वारा गैर जमानती धाराओं के साथ मामला पंजीबद्ध कर लिया। जिसमें से एक एक कर सभी पांच मजदूरों को जेल की हवा खानी पड़ी। कुछ दिन बाद मजदूर जमानत पर रिहा हुए और उनका लगभग 2 साल केश चलता रहा। जिसमें सभी ने मानसिक और आर्थिक रूप से बेहद परेशानी भी झेली। इस दौरान न्यायालय ने दोनों पक्षों की दलील सुनते हुए सबूत और गवाओं की दलीलों के मद्देनजर पाया गया की नारायणी कंपनी द्वारा उक्त मजदूर के साथ मिलकर दबावपूर्व मनगढ़ंत कही गढ़ कर झूठा केश किया गया। जिस पर न्यायालय द्वारा सभी पांच मजदूरों को दोषमुक्त कर दिया। मजदूरों ने न्याय व्यवस्था पर भरोसा जताते हुए इसे सत्य की जीत बताई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *