CHHATTISGARH

KORBA / कलेक्टर ने गोठान निरीक्षण के दौरान वर्मी कंपोस्ट निर्माण में लापरवाही पर जताई गहरी नाराजगी, दो अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी….

कलेक्टर ने किया अरदा गोठान का औचक निरीक्षण, गोबर के सुरक्षित भंडारण और खरीदे गए गोबर से सही अनुपात में खाद निर्माण करने के दिए निर्देश

कोरबा 23 नवंबर 2022 / आज बुधवार को कलेक्टर संजीव झा ने जनपद पंचायत कटघोरा के अंतर्गत अरदा गोठान का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान कलेक्टर श्री झा ने गौठान में संचालित विभिन्न गतिविधियों की जानकारी गोठान के नोडल अधिकारी से ली। साथ ही गोबर खरीदी और खरीदे गए गोबर से वर्मी कंपोस्ट निर्माण की भी जानकारी ली। कलेक्टर श्री झा ने गोठान निरीक्षण के दौरान गोठान में खरीदे गए गोबर के खुले में भंडारण, वर्मी टांको में पर्याप्त केंचुआ नही होने और सही अनुपात में वर्मी कंपोस्ट निर्माण नहीं किए जाने की जानकारी पर गहरी नाराजगी जताई। कलेक्टर ने सरकार की महत्वकांक्षी योजना के संचालन में लापरवाही बरतने, गोठान में अव्यवस्था और वर्मी कंपोस्ट निर्माण में लापरवाही बरतने के कारण प्रभारी वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी एमपी सिंह कंवर और ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी श्रीमती पीके नेटी को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। कलेक्टर के निर्देश उपरांत उप संचालक कृषि ने दोनों अधिकारियों को नोटिस जारी कर दिए है। अधिकारियों को तीन दिवस के भीतर स्पष्टीकरण भी देने के निर्देश दिए गए हैं।

कलेक्टर ने उपस्थित अधिकारी कर्मचारियों को निर्देश दिए कि गौठान में खरीदे गए गोबर को खुले में ना रखा जाये। गोबर को शेड में सुरक्षित भंडारण किया जाए। इस दौरान उन्होंने मनरेगा से बनाई गई डबरी तालाब का भी निरीक्षण किया। कलेक्टर ने मनरेगा से बनाई गई डबरी का निरीक्षण करके तकनीकी सहायक को निर्देश दिये कि मनरेगा से बनाई जाने वाली परिसंपत्ति का निर्माण वैज्ञानिक तकनीकों की सहायता से करे। उन्होंने कहा की जीआईएस और गूगल अर्थ के माध्यम से पता करके कहां पर पानी संग्रहित हो सकता है इसके आधार पर जल संरचनाएं बनाई जाए। उन्होंने गोठान में बने वर्म टेंकों में गोबर से बनाए जा रहे खाद का अवलोकन किया तथा प्रत्येक टांके में 7 से 10 किलोग्राम केंचुआ एवं सूखे पत्ते कचरा डालने के निर्देश दिए। उन्होंने स्व सहायता समूह की महिलाओं से गोठान में अब तक की गई गोबर खरीदी एवं बनाए गए वर्मी खाद की जानकारी ली। कलेक्टर ने गोठान के नोडल अधिकारी, सचिवों को निर्देश दिए कि गोठान में खरीदे गए गोबर का खाद रूपांतरण 40 प्रतिशत होना चाहिए। स्व सहायता समूह की महिलाओं ने बताया कि उन्होंने अब तक एक लाख 65 हजार रुपए का खाद बेच कर लाभ कमाया है और अभी गोठान में 18 क्विंटल खाद छनकर उठाव हेतु तैयार है। श्री झा ने गोठान में बनाए गए वर्मी टांके में तकनीकी प्राक्कलन के अनुसार केंचुआ की सुरक्षा हेतु नाली बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने मनरेगा से बनाए गए नये तालाब का अवलोकन किया तथा आउटलेट और इनलेट की जानकारी ली। इस दौरान उन्होंने गांव के चरवाहे से चर्चा करके गोठान में आने वाले पशुओं की जानकारी ली तथा चरवाहे को बताया कि गोठान परिसर में पाए जाने वाले गोबर को बेचकर वह आर्थिक लाभ कमाएं। निरीक्षण के दौरान सीईओ जिला पंचायत नूतन कुमार कंवर, सीईओ जनपद पंचायत कटघोरा वी. के.राठौर,विभागीय अधिकारी सहित गांव के सरपंच, सचिव आदि मौजूद रहे।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!