AAJTAK KI KHABAR

कुसमुंडा खदान के डीजल चोर का कोरबा के पावर प्लांट में धावा, लाखों के माल के साथ ३ गिरफ्तार, फरार सरगना की हो रही पातासाजी.

कोरबाजिले के हृदय स्थल पर स्थित सीएसईबी के २०० मेगावाट संयंत्र में हथियारबंद बदमाशों ने धावा बोल दिया। पहले तो चोरों ने हथियार के दम पर सुरक्षा कर्मियों को बंधक बना लिया। इसके बाद ताला तोड़कर मेटल हाउस में जा घुसे। सूचना मिलते ही हरकत में आई पुलिस ने तीन आरोपीयों को दबोच लिया, लेकिन उनके साथी करीब ३ लाख रूपए कीमती 7 टन तांबे को लेकर भागने में कामयाब हो गए। मामले में पुलिस ने अपराध पंजीबद्ध कर फरार आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है।

कोतवाली थाना क्षेत्र अंतर्गत सी एस ई बी चौकी क्षेत्र में  18 -19 नवंबर की दरम्यानी रात की यह घटना है जिसमें सीएसईबी के 200 मेगावाट पावर प्लांट में स्क्रेप निकालने का टेंडर चिनार स्टील सेग्मेंट प्राइवेट लिमिटेड को दिया गया है। कंपनी द्वारा संयंत्र से निकाले जा रहे स्क्रेप को टरबाइन के समीप मेटल हाउस में रखा जा रहा है। जहां सुरक्षाकर्मी रामाशीष निषाद, सालिकराम व कैलाश नाथ जायसवाल तैनात थे।

 

इसी बीच रात करीब 12.15 बजे दर्जन भर हथियारबंद बदमाश दर्री सब स्टेशन के रास्ते मेन गेट को तोड़कर भीतर जा घुसे। बदमाशों ने हथियार दिखाते हुए सुरक्षा कर्मियों को बंधक बना लिया। वे ताला तोड़कर मेटरहाउस के भीतर पहुंच गए, जहां से तांबा सहित अन्य सामान को वाहन में लोड करना शुरू कर दिया। जिसे कुछ अन्य लोग वजनी सामान को ले जाते दिखे। सुरक्षा कर्मियों ने पीछा कर तीन लोगों को पकड़ लिया, जिन्होंने अपना नाम रन सिंह, रोशन कुमार व दिलेश्वर बताया। उन्होंने कुसमुंडा निवासी राजा खान के लिए कबाड़ चोरी का काम करने की बात स्वीकार किया। राजा खान का नाम पूर्व में कुसमुंडा खदान से डीजल चोरी में भी आ चुका है। पकड़ में आए इन तीनों बदमाशों को पुलिस के सुपुर्द कर दिया गया। हथियार बंद बदमाश मेटल हाउस से तांबे की पट्टी, पाइप, केबल वायर सहित करीब तीन लाख रूपए कीमती सात टन तांबा को पार कर दिया है। मामले में कंपनी के अफसर हितेश कांटेर की रिपोर्ट पर धारा 380,457,34 के तहत कार्रवाई की गई है।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!