CHHATTISGARH

सर्वधर्म समभाव के प्रतीक नर सेवा ही नारायण सेवा को मानने वाले अलेक्जेंडर एम चेरियन ने निषाद भवन दुर्गोउत्सव में किया प्रसाद वितरण…

 

रविंद्र दास

अलेक्जेंडर वह नाम है.. खासकर जगदलपुर बस्तर के लिए जिन्होंने अपने जीवन का उद्देश्य ही मानव सेवा को समर्पित किया है कोरोना के दौर में जब घर के अपने नाते रिश्तेदार शव को लेने से इनकार कर रहे थे तब अलेक्जेंडर ने मानवता की मिसाल पेश की .स्वयं कोरोना पीड़ित शवों का अंतिम संस्कार किया…*नर सेवा ही नारायण सेवा* ..को मानने वाले. अपने स्वास्थ्य की बगैर परवाह किए मानव सेवा को अपना धर्म समझने वाले रेड क्रॉस उपाध्यक्ष एलेग्जेंडर  एम चेरियन हमेशा ही लोगों के सहयोग के लिए तत्पर रहते हैं . मलेरिया डेंगू के कहर से पूरा बस्तर खासकर जगदलपुर मे सभी वार्डों में मलेरिया डेंगू से लोग परेशान थे..लोगों के प्लेटलेट्स दिन ब गिर रहे थे तो उन्होंने लोगों के लिए प्लेटलेट्स खून की कमी ना हो . रक्तदान शिविर का आयोजन करवाया जिसमें रेडक्रास और सभी सामाजिक संगठनों के साथ मिलकर विशाल रक्तदान शिविर का आयोजन किया था ..जिससे बड़ी संख्या में डेंगू पीड़ित मरीजों के लिए वरदान साबित हुई . जब भी किसी भी संप्रदाय के धार्मिक त्यौहार होते तो वे सक्रिय रुप से सहयोग कर मानवता का परिचय देते .आज नवरात्र के अष्टमी अवसर पर बलिराम कश्यप वार्ड में निषाद भवन नवयुवक दुर्गा उत्सव समिति के भंडारे में लोगो को भंडारे में प्रसाद वितरण किया.. आज के भंडारे में इनके सहयोगी रहे नवीन मालगांवकर प्रीतम ठाकुर रवि शंकर डे मनीष मालगांवकर दीपक निषाद एवं साथी…

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!