LATEST NEWSNATIONAL

कोरोना की बेकाबू रफ्तार से सरकार परेशान, स्वास्थ्य मंत्री ने जाना दुनिया का हाल, बनाया ये प्लान

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया (Mansukh Mandaviya) ने आज देश के वैज्ञानिकों, डॉक्टरों और सेक्रेटरी के साथ मिलकर कोरोना वायरस के मामले पर देश का और दुनियाभर के मामलों का अपडेट लिया.

कोरोना के बढ़ते मामले चिंताजनक

ग्लोबल आंकड़ों को देखने के बाद स्वास्थ्य मंत्री ने निर्देश दिए हैं कि देश में कोरोना वायरस के मामलों की जीनोम सीक्वेंसिंग (Genome Sequencing) बढ़ाई जाए. साथ ही ऐसे जिलों में निगरानी तेज की जाए, जहां से ज्यादा मामले रिपोर्ट हो रहे हैं. इस वक्त भारत में कोरोना वायरस के सबसे ज्यादा मामले महाराष्ट्र से सामने आ रहे हैं.

क्या आ गई है चौथी लहर?

भारत में कोरोना वायरस के कुल मरीजों की संख्या इस समय 83,990 है. गुरुवार को 13,313 मामले रिपोर्ट किए गए हैं. पिछले 1 महीने से कोरोना वायरस के मामले 10,000 से ऊपर ही चल रहे हैं. जबकि पहले इन मामलों में काफी कमी आ गई थी. हालांकि इसे कोरोना वायरस की चौथी लहर नहीं माना जा रहा है, लेकिन बढ़ते मामलों पर लगाम लगाने को लेकर सरकार की चिंता साफ नजर आ रही है.

स्वास्थ्य मंत्री ने की समीक्षा बैठक

आज हुई समीक्षा बैठक में स्वास्थ्य मंत्री के साथ एम्स के डायरेक्टर डॉ रणदीप गुलेरिया भी मौजूद थे. जिनका कार्यकाल आज ही 3 महीने के लिए बढ़ा दिया गया है. इसके अलावा सरकार के प्रिंसिपल साइंटिफिक एडवाइजर डॉक्टर अजय सूद, आयुष सेक्रेटरी वैद्य राजेश कोटेचा, एनसीडीसी यानी संक्रमित बीमारियों के विभाग के डायरेक्टर डॉ सुजीत सिंह और कोरोना वायरस वैक्सीन टास्क फोर्स के हेड डॉ एनके अरोड़ा भी मीटिंग में मौजूद रहे.

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!