LATEST NEWSNATIONAL

अग्निपथ स्कीम के विरोधियों ने एक बार फिर किया हिंसक कार्य, कई कोचिंग सेंटर बंद, बगैर पंजीकृत संस्थानों के लिए टीम गठित

यूपी। उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ (Aligarh) जिले में अग्निपथ योजना के विरोध में हुए हिंसक प्रदर्शनों का सबसे ज्यादा असर कोचिंग सेंटरों पर पड़ा है. जिले में ज्यादातर कोचिंग सेंटर (Coaching center) बंद हो गए हैं. क्योंकि हिंसक प्रदर्शनों को भड़काने की साजिश में पुलिस ने कई कोचिंग संचालकों को गिरफ्तार किया है और इस मामले की जांच चल रही है. फिलहाल जिला प्रशासन ने जिले में चल रहे अवैध और बगैर पंजीकृत कोचिंग सेंटरों के खिलाफ जांच कमेटी बनाई है. जानकारी के मुताबिक अलीगढ़ जिले में पुलिस ने 76 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और 68 को एहतियातन हिरासत में रखा है. इसमें से कम से कम 11 कोचिंग सेंटरों के संचालक हैं. क्योंकि पुलिस जांच में सामने आया है कि जिले में हुए हिंसक प्रदर्शनों के पीछे कोचिंग संचालकों की साजिश थी और उन्होंने युवाओं को भड़काया. जिसके बाद युवाओं ने हिंसक प्रदर्शन किए और सरकारी और निजी संपत्तियों को नुकसान पहुंचाया.

जानकारी के मुताबिक अलीगढ़ जिले में कोचिंग सेंटर संचालकों की अधिकांश गिरफ्तारी टप्पल क्षेत्र से हुई है. क्योंकि यहां पर ज्यादा कोचिंग सेंटर हैं.जिले में ज्यादातर कोचिंग संचालकों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. वहीं बताया जा रहा है कि कई कोचिंग सेंटर बगैर पंजीकृत चल रहे थे. जिसके बाद जिला प्रशासन ने इनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का फैसला किया है. इस मामले में अलीगढ़ के एसपी (ग्रामीण) पलाश बंसल ने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा क्षेत्र में अपंजीकृत कोचिंग सेंटरों की जांच के लिए एक विशेष समिति का गठन किया गया है और वे जांच के दायरे में हैं. जांच के बाद उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

जानकारी के मुताबिक टप्पल कस्बे में कोंचिंग चलाने वाले यंग इंडिया कोचिंग सेंटर के मालिक सुधीर शर्मा को हिंसा के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया है.जिले के एसएसपी कलानिधि नैथानी ने मीडिया को बताया कि पिछले सप्ताह शुक्रवार से हुई हिंसा को लेकर अबतक करीब 80 लोगों को हिरासत में लिया गया है और पुलिस सोशल मीडिया पर करीब से नजर रख रही है. उन्होंने कहा कि हिंसा लेकर कोचिंग संचालकों की भूमिका सामने आई है. उन्होंने कहा कि पुलिस हिरासत में मौजूद अन्य लोगों से पूछताछ की जा रही है.

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!