LATEST NEWSNATIONAL

यासीन मलिक को उम्रकैद, सजा सुनाए जाने के बाद घाटी के बिगड़े हालात, कई इलाकों में इंटरनेट बंद

नई दिल्ली : टेरर फंडिंग मामले यासीन मलिक को पटियाला हाउस कोर्ट ने उम्रकैद की सजा सुनाई है। अदालत ने यासीन मलिक को यूएपीए के तहत 19 मई को दोषी ठहराया था। यासीन पर पाकिस्तान के समर्थन से कश्मीर में आतंकी घटनाओं के लिए फंडिंग करने और आतंकियों को तबाही का सामान मुहैया कराने के कई केस दर्ज थे।

बता दें कि 56 साल के आतंकी यासीन मलिक ने 10 मई को अपना जुर्म कबूल करते हुए कहा था कि वो खुद पर लगाए गए आरोपों का सामना नहीं करना चाहता है। इसके बाद पटियाला हाउस कोर्ट के विशेष न्यायाधीश ने 19 मई को यासीन मलिक को यूएपीए के तहत दोषी करार दिया था। आज फैसले से पहले यासीन ने कहा कि कोई भीख नहीं मांगूंगा, कोर्ट को जो सही लगता है वो करें।

यासीन मलिक के खिलाफ यूएपीए की धारा 16,17, 18 और 20 के तहत आतंकी गतिविधियां, आंतकी गतिविधियों के लिए फंडिंग करना, आतंकी साजिश रचना और आतंकवादी गिरोह का सदस्य होने का दोष सिद्ध हुआ है। इसके साथ ही वह आईपीसी की धारा 120 बी यानी आपराधिक साजिश और 124ए यानी राजद्रोह का भी दोषी है।

यासीन को सजा सुनाए जाने से पहले ही जम्मू कश्मीर में प्रशासन ने सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी थी। इधर प्रशासन ने यासीन मलिक केस में फैसला आने से पहले ही श्रीनगर में इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी थी। पथराव की घटना के बाद शहर भी बंद हो गया है। लोग विरोध- प्रदर्शन के लिए सड़कों पर उतर आए हैं। इससे पहले पुलिस ने यासीन के घर के बाहर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी थी। यहां ड्रोन से निगरानी की जा रही है।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!