AAJTAK KI KHABARCHHATTISGARHCrimeKORBA NAGAR NIGAMKUSMUNDA NEWSKUSMUNDA POLICEKUSMUNDA UPDATES

शिक्षक हुआ ठगी का शिकार, कार और केश इनाम के चक्कर में गंवाये 3 लाख 66 हजार रुपये…

कोरबा – जिला पुलिस द्वारा साइबर क्राइम एवं फ्रॉड से बचाव के लिए चलाए जा रहे तमाम तरह के अभियानों के बावजूद भी आमजन साइबर अपराधियों के झांसे में आकर अपनी गाढ़ी कमाई लूटा बैठ रहे हैं, सबसे आश्चर्यजनक बात यह है कि इनके झांसे में पढ़े लिखे लोग भी आ रहे हैं। कोरबा पुलिस अधीक्षक भोजराम पटेल द्वारा जिले के सभी पुलिस थाना एवं चौकी क्षेत्रों में चलित थाना, चौपाल, जगह जगह पर पोस्टर चस्पा कर एवं आमजनों से सीधे संवाद कर साइबर क्राइम, बैंक फ्रॉड इत्यादि से बचाव के लिए लगातार जागरूक कर रही है, बावजूद इसके लोग लालच की वजह से फ्रॉड के शिकार हो रहे हैं। बीते दिनांक 13 मई 2022 को कुसमुंडा थाने में एक ऐसा ही मामला प्रकाश में आया, जंहा कुसमुंडा क्षेत्र अंतर्गत आदर्श नगर निवासी अश्वनी कुमार पिता रिपुसूदन तिवारी उम्र लगभग 61 वर्ग जो की हायर सेकेण्डरी कुसमुंडा में ही व्यख्याता हैं, जिन्होने कुसमुंडा पुलिस को बताया की दिनांक 02.04.2022 की उन्हें एक नंबर से फोन आया, फोन करने वाले व्यक्ति ने अपना नाम पंकज सिंह भदोरिया बताया और उसने बोला कि आपके नाम पर 8,20,000रूपये का ईनाम निकला है यदि आपके नगद रूपया नही लेना है तो विकल्प के रूप में सुजुकी स्विप्ट डिजायर का कार है इन दोनो में से आप कोई भी एक ईनाम चयन कर सकते है तब मैं बोला कि हमारे पास कार है मुझे कार नही चाहिये नगद राशि 8,20,000रूपये दे दीजिए तब उसने कहा कि पैसा ईनाम लेने के लिए आपको अपना बायोडाटा डिटेल जिसमे खाता नंबर, आधार कार्ड तथा अन्य डिटेल्स जिसे मैं बताउंगा उसे देना होगा तथा साथ में रजिस्ट्रेशन शुल्क 4100रूपये देना होगा तब मैं अपना सारा डिटेल SBI शाखा कुसमुण्डा का खाता क्रमांक एवं आधार कार्ड के साथ बताये गये मोबाईल यूजर के द्वारा दिये गये खाता नंबर जो किसी बुद्धसिंह के नाम पर रजिस्टर्ड था, सबसे पहले 4100रूपये उसके बाद वह मुझे गुमराह करते हुये 16400रू, 24600रू, 4100रू, 40,000रू, 1000रू, 41,000रू, 17,400रू, 4000रू, 41,000रू, 30,000रू, 20,000रू, 20,000रू, 30,000रू कुल 3,66,500 रूपये दे दिया। रिपुसूदन तिवारी ने कुसमुंडा पुलिस में उक्त शिकायत दर्ज कर अज्ञात आरोपी के खिलाफ कार्यवाही की मांग की हैं। कुसमुंडा पुलिस द्वारा अज्ञात आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर आरोपियों की पतासाजी में जुट गयी हैं।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!