SPORTS

बेस्ट कप्तान कौन; क्या ख़त्म हो रहा है भारत का गोल्डन एरा ?

भारतीय क्रिकेट में इस वक्त तूफान का दौर चल रहा है। कप्तानी विवाद के बीच साउथ अफ्रीका में हार से टीम, इसके खिलाड़ी, कप्तान और BCCI सब सवालों के घेरे में है। यह भी कहा जाने लगा है कि 21वीं सदी में भारतीय टीम ने जिस तरह वर्ल्ड क्रिकेट पर दबदबा बनाया वह अब खत्म होने लगा है।दबदबा खत्म हो रहा है या नहीं इसका जवाब तो आने वाले कुछ महीनों में मिलेगा, इस आर्टिकल में हम समझेंगे कि हमारी टीम पिछले दो दशक में औसत स्तर की टीम से ऊपर उठकर दुनिया को हराने वाली विनिंग मशीन कैसे बनी। इसके लिए हम उन कप्तानों की बात करेंगे जिनकी लीडरशिप ने भारतीय क्रिकेट को वह मुकाम दिया जिसके बारे में 20 साल पहले तक कोई सोच भी नहीं सकता था। ये कप्तान रहे सौरव गांगुली, महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली। चलिए जानते हैं कि इन तीनों के टेन्योर में भारत ने क्या हासिल किया।

MS Dhoni Sourav Ganguly or Virat Kohli Which Team India Captain have Sharpest Mind of Cricket Greg Chappell| गांगुली, धोनी या विराट? जानिए किस भारतीय कप्तान के पास है क्रिकेट का सबसे

गांगुली ने मैच फिक्सिंग के दौर से बाहर निकाला
दिसंबर 2000 में मोहम्मद अजहरुद्दीन पर मैच फिक्सिंग मामले में आजीवन प्रतिबंध लगाया गया था। अजय जडेजा भी पांच साल के लिए बैन हुए। सचिन तेंदुलकर ने कप्तानी छोड़ने का फैसला कर लिया। इसके बाद 28 साल की उम्र में अप्रत्याशित रूप से सौरव गांगुली को टीम का कप्तान बनाया गया।गांगुली की अगुवाई में भारत ने सबसे पहले ऑस्ट्रेलिया का विजयी रथ रोका। लगातार 16 टेस्ट में जीत हासिल करने के बाद कंगारू टीम 2001 में कोलकाता के ईडन गार्डेंस में भारत से हारी। भारत ने चेन्नई टेस्ट जीत सीरीज पर भी कब्जा कर लिया। 2002 में इंग्लैंड में नेटवेस्ट ट्रॉफी में जीत मिली। भारतीय टीम 2003 के वर्ल्ड कप के फाइनल तक पहुंची। 20 साल बाद भारत ने वर्ल्ड कप का खिताबी मुकाबला खेला। फिर 2004 में भारत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज ड्रॉ कराई और पाकिस्तान में पहली बार कोई टेस्ट मैच और फिर टेस्ट सीरीज जीतने में सफलता हासिल की।

धोनी की कप्तानी में जीते 3 ICC इवेंट
सौरव गांगुली की अगुवाई में भारतीय टीम फाइटर तो बनी लेकिन वर्ल्ड चैंपियन नहीं बन पाई। इस कमी को पूरा किया महेंद्र सिंह धोनी ने। धोनी के कैप्टन बनाए जाने के बाद भारतीय क्रिकेट की तस्वीर ही बदल गई। 2007 में टी-20 वर्ल्ड कप के लिए धोनी को कप्तान बनाने का दांव खेल गया और सिलेक्टर्स द्वारा फेंका गया पासा काम कर गया।धोनी की युवा ब्रिगेड़ ने फाइनल में पाकिस्तान को मात देकर इतिहास रच दिया। इसके बाद महेंद्र सिंह धोनी ने पीछे मुड़कर नहीं देखा। टी-20 वर्ल्ड कप में मिली सफलता के बाद उनको वनडे की कप्तानी भी मिल गई और सालभर के अंदर टेस्ट की कमान उनको सौंप दी गई। धोनी के कार्यकाल में भारत ने 2009 में पहली बार टेस्ट रैंकिंग में पहला स्थान हासिल किया। वह धोनी ही थे जिनकी कप्तानी में भारतीय टीम 2011 में 28 सालों के लंबे सूखे को समाप्त कर वनडे वर्ल्ड कप पर कब्जा जमाया।

Sourav Ganguly vs MS Dhoni vs Virat Kohli: Look at Indian captains records|  वे तीन सबसे सफलतम कप्तान, जिन्होंने 'टीम इंडिया' को दुनिया की बेहतरीन टीम  बनाया | Hindi News, क्रिकेट

कोहली ने हमें टेस्ट में बेस्ट बनाया
एमएस धोनी के कप्तानी छोड़ने के बाद 2015 में विराट कोहली को टेस्ट का लीडर बनाया गया था। उनकी कप्तानी में टीम इंडिया ने शानदार खेल दिखाया। विराट के बल्ले ने भी जमकर रनों की बारिश की। टेस्ट कैप्टन के रूप में कोहली ने पहला मैच 2014 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एडिलेड में खेला था और मैच की दोनों पारियों में शतक लगाए थे। किंग कोहली की कप्तानी में भारत ने देश के साथ-साथ विदेशों में भी सफलता के झंड़े गाड़े।विराट की अगुआई में भारतीय टीम टेस्ट क्रिकेट में 42 महीनों तक टेस्ट रैंकिंग में पहले पायदान पर रही। कोहली की कप्तानी में टीम अक्टूबर 2016 में पहली बार टेस्ट में नंबर-1 बनी थी और 2020 मार्च तक इस पायदान पर बरकरार रही। लगातार 42 महीनों तक टेस्ट क्रिकेट में राज करना अपने आप में बहुत बड़ी बात है।2018-19 में भारत ने विराट की कप्तानी में ऑस्ट्रेलिया को उसकी सरजमीं पर 2-1 से हराकर टेस्ट सीरीज जीती थी। इसके साथ ही कोहली एशिया पहले ऐसे कप्तान बन गए थे, जिन्होंने कंगारूओं को उन्हीं की धरती पर टेस्ट सीरीज में हराया। इस सीरीज में बतौर कप्तान कोहली ने 7 पारियों में 40.29 की औसत के साथ 282 रन बनाए थे। कोहली टीम इंडिया के सबसे सफल टेस्ट कप्तान रहे।68 मैचों में टीम की कमान संभालते हुए उन्होंने देश को 40 मैच जिताए। कोहली का जीत प्रतिशत 58.82 का रहा। खास बात तो ये रही की विराट ने 40 से में 16 मुकाबले विदेशी सरजमीं पर जीते। लेकिन साउथ अफ्रीका दौरे पर यह सिलसिला थम गया।

Tags
Back to top button
error: Content is protected !!