SPORTS

दर्शकों के बिना खेला जाएगा महिला वनडे विश्वकप

वेलिंग्टन, 23 जनवरी। न्यूज़ीलैंड में होने वाले आगामी अंतर्राष्ट्रीय और घरेलू क्रिकेट टूर्नामेंट बढ़ते ओमिक्रॉन कोविड वैरिएंट के संक्रमण के कारण बंद दरवाजों के पीछे खेले जाएंगे और किसी भी दर्शक को मैदान में आने की अनुमति नहीं होगी।उल्लेखनीय है कि 9 फ़रवरी से भारत और न्यूज़ीलैंड की महिला टीम के बीच एक टी20 और पांच वनडे मैचों की सीरीज़ की शुरुआत होने वाली है।

उम्मीद है कि न्यूज़ीलैंड में कोविड संंक्रमण के कारण अब और भी ज़्यादा प्रतिबंध लगाए जाएंगे। यह लॉकडाउन की तरह नहीं होगा लेकिन किसी भी आयोजन में 100 से अधिक लोगों के शामिल होने की अनुमति नहीं दी जाएगी। साथ ही आयोजन में उन्हीं लोगों को शामिल किया जा सकेगा, जिन्होंने कोविड टीके का दोनों डोज ले लिया है। न्यूज़ीलैंड क्रिकेट के एक अधिकारी ने क्रिकइंफ़ो को बताया है कि नए प्रतिबंधों के बीच जो भी क्रिकट के आयोजन होंगे, वह बंद दरवाजों के पीछे खेले जाएंगे। न्यूज़ीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिंडा अर्डर्न ने नए प्रतिबंधों के लिए एक सटीक समयरेखा तय नहीं की है, क्योंकि वहां पहली बार ओमिक्रॉन वैरिएंट का कोरोना संक्रमण हुआ है। हालांकि उन्होंने यह संकेत दिया है कि यह कई हफ़्तों के लिए हो सकता है।

नए प्रतिबंधों के कारण भारतीय महिला टीम का न्यूज़ीलैंड दौरा प्रभावित होने वाली पहली अंतरराष्ट्रीय श्रृंखला होगी, जिसमें 9 फ़रवरी से शुरू होने वाले एक टी20 और पांच वनडे मैच शामिल हैं। साउथ अफ़्रीका की पुरुष टीम भी फ़रवरी के मध्य में दो मैचों की टेस्ट श्रृंखला खेलने के लिए न्यूज़ीलैंड जाने वाली है।

भारतीय महिला टीम 26 जनवरी को वहां पहुंचेगी और साउथ अफ़्रीका 4 फरवरी को न्यूज़ीलैंड पहुंचने के बाद अनिवार्य क्वारेंटीन का पालन करेगी।

रविवार को न्यूज़ीलैंड के खेल और मनोरंजन मंत्री ग्रांट रॉबर्टसन ने कहा कि विश्व कप आयोजन समिति प्रतिबंधों में बदलाव की योजना बना रही थी। “जाहिर है, हम नहीं जानते कि यह कब तक चलेगा, महिला क्रिकेट विश्व कप के आयोजक टूर्नामेंट को बंद दरवाजों के पीछे आयोजित करने की योजना बना रहे हैं और हम उसके लिए निश्चित तौर पर अनुमति दे सकते हैं।

Tags

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!