CHHATTISGARH

नपा अध्यक्ष ग़फ़्फ़ु मेमन ने ज़िलेवासियों को लोक पर्व छेरछेरा की दी बधाई

गरियाबंद, 17 जनवरी। नगरपालिका अध्यक्ष ग़फ़्फ़ु मेमन ने ज़िलेवासियों को छत्तीसगढ़ के प्रसिद्ध लोक पर्व छेरछेरा की बधाई और शुभकामनाएं दी है। इस अवसर पर उन्होंने सबकी सुख, समृद्धि और खुशहाली की कामना की है। ग़फ़्फ़ु मेमन ने छेरछेरा पर्व पर जारी अपने शुभकामना संदेश में कहा है कि नई फसल के घर आने की खुशी में पौष मास की पूर्णिमा को छेरछेरा पुन्नी तिहार मनाया जाता है। इसी दिन मां शाकम्भरी जयंती भी मनाई जाती है। पौराणिक मान्यता के अनुसार इस दिन भगवान शंकर ने माता अन्नपूर्णा से भिक्षा मांगी थी, इसलिए लोग धान के साथ साग-भाजी, फल का दान भी करते हैं।

श्री मेमन ने कहा कि महादान और फसल उत्सव के रूप त्यौहार मनाया जाने वाला छेरछेरा तिहार हमारी समाजिक समरसता, समृद्ध दानशीलता की गौरवशाली परम्परा का संवाहक है।
नपा अध्यक्ष ग़फ़्फ़ु मेमन अपने बचपन के सुनहरे दिन को याद करते हुए कहते है आज के दिन वे सुबह से ही अपने बाल सखाओं के साथ थैला ले कर छेर छेरा लेने जाते थे और सभी मित्र साथ बैठ कर इस त्योहार को मनाया करते थे , उन्होंने कहा इस दिन ‘छेरछेरा, कोठी के धान ल हेरहेरा’ बोलते हुए गांव के बच्चे, युवा और महिलाएं खलिहानों और घरों में जाकर धान और भेंट स्वरूप प्राप्त पैसे इकट्ठा करते हैं और इकट्ठा किए गए धान और राशि से वर्ष भर के लिए कार्यक्रम बनाते हैं। उन्होंने कहा कि यहाँ के किसानों में उदारता के कई आयाम दिखाई देते हैं। यहां उत्पादित फसल को समाज के जरूरतमंद लोगों, कामगारों और पशु-पक्षियों के लिए देने की परम्परा रही है। छेरछेरा का दूसरा पहलू आध्यात्मिक भी है, यह बड़े-छोटे के भेदभाव और अहंकार की भावना को समाप्त करता है। नपा अध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश की अमूल्य धरोहरों और पौराणिक परम्पराओं का संवर्धन और संवहन हो सके, इसलिए छेरछेरा तिहार पर सार्वजनिक अवकाश भी घोषित किया जाता है । साथ ही हमारी समृद्ध सभ्यता और परंपराओं से भावी पीढ़ी का परिचय कराना हम सबका दायित्व है।

Tags

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!