CrimeJharkhand

पहले महिला को बताया डायन, फिर कर दिया आग के हवाले, भीड़ के क्रूरता की कहानी

रांची : केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने आज सिमडेगा में भीड़ के गुस्से की शिकार झरियो देवी को देखने देवकमल अस्पताल गए। जहां उन्होंने पीड़ित का हालचाल जाना, और डॉक्टर से बेहतर इलाज देने का आग्रह किया।

डायन का आरोप लगाकर जिंदा जलाया

गौरतलब है, कि 13 जनवरी को 60 वर्षीय झरियों देवी पर डायन बिसाही का आरोप लगाकर भीड़ ने उन्हें जिंदा जलाने की कोशिश की थी, जिसमें वो बुरी तरह से झुलस गई थी। जिसके बाद आनन फानन में उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां उनका इलाज चल रहा है।

प्रदेश की पुलिस निष्क्रिय है-अर्जुन मुंडा

वहीं पीड़ित को देखने पहुंचे अर्जुन मुंडा ने प्रदेश में कानून व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए कहा, कि आज प्रदेश का पुलिस-प्रशासन पूरी तरह से निष्क्रिय और लापरवाह हो गया है, इसीलिए इस तरह की जघन्य घटना हो रही है। उन्होंने प्रशासन से दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की है।

दहशत में महिला के परिवार वाले

महिला को रात्रि में करीब 1 बजे इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया। पुलिस ने इस मामले में एक महिला समेत कुल पांच लोगों को हिरासत में लिया है। घटना से महिला के परिवार वाले दहशत में है।

पुआल व मिट्टी तेल छिटकर लगा दी आग

प्राप्त जानकारी के अनुसार 60 वर्षीय झरियो देवी दीपाटोली में फॉलो डुंगडुंग के यहां मृत्यु भोज में भाग लेने यहां गई थी। झरियो के मुताबिक वह अपने पति करमु बड़ाइक के साथ शाम में पहुंची थी। इसी क्रम में वहां देर से आने एवं डायन बिसाही का आरोप लगाकर पुआल व मिट्टी तेल छिटकर आग लगा दी। जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गई।

घायल महिला को सदर अस्पताल में कराया भर्ती

घटना के वक्त महिला के पति के दूसरे तरफ होने के कारण उन्हें देर से सूचना मिली। घटना की सूचना पुलिस को दी गई। जिसके बाद पुलिस ने घायल महिला को सदर अस्पताल में भर्ती कराया। पुलिस ने पूरे मामले में महिला समेत पांच लोगों को हिरासत में लिया है। गिरफ्तार लोगों में फ्लोरेंस डुंगडुंग, सिलबीयुस डुंगडुंग,रवि सोरेंग,ज्योति सोरेंग एवम हेमंत टेटे शामिल हैं।

Related Articles

Back to top button