ChhattisgarhCorona Update

जानिए, होम आइसोलेशन में कैसे होगा इलाज: सांस की तकलीफ न होने पर ही मिलेगा होम आइसोलेशन; फ्री दवा और डॉक्टर्स की सलाह मिलेगी

कोरोना पॉजिटिव आने के बाद हर मरीज को अस्पताल जाने की जरूरत नहीं है। घर पर रहकर भी कोरोना का इलाज कराया जा सकता है। होम आइसोलेशन से जुड़ी ये सुविधा आपको कैसे मिलेगी, डॉक्टर्स कैसे आपकी मदद करेंगे और कैसे होम आइसोलेशन खत्म होगा, ये सारी जानकारी आपको मिलेगी इस रिपोर्ट में।

कौन रह सकता है होम आइसोलेशन में
ऐसे मरीज जिनमें कोविड के बेहद हल्के लक्षण हों, सांस लेने में तकलीफ न हो, वो होम आइसोलेशन में रह सकते हैं। कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी मरीज के बताए नंबर पर संपर्क कर उनसे उनके स्वास्थ्य की जानकारी लेकर होम आइसोलेशन पर रह सकते हैं या नहीं, इस बारे में बताते हैं।

ऐसे होगा रजिस्ट्रेशन
होम आइसोलेशन पर रहने वालों को बेबसाइट http://cghomeisolation.com पर जाकर खुद को रजिस्टर करना होगा। कोरोना संक्रमित मरीजों को घर पहुंचकर दवा भी उपलब्ध कराई जाती है। होम आइसोलेशन आवेदन करने वाले मरीजों को ही इलाज के बाद ठीक होने पर होम आइसोलेशन कंप्लीशन सर्टिफिकेट मिलता है। होम आइसोलेशन का आवेदन नहीं करने पर उसके विरुद्ध कार्रवाई की जा सकती है। अगर सरकारी या प्राइवेट अस्पताल में बेड की जरूरत हो तो उसकी जानकारी govthealth.cg.gov.in पर ली जा सकती है।

होम आइसोलेशन के लिए गाइडलाइन

  • साल 2022 की होम आइसोलेशन की गाइडलाइन के मुताबिक ये आइसोलेशन 7 दिनों के लिए होगा।
  • मरीज के लिए अलग कमरा और टॉयलेट का बंदोबस्त होना चाहिए।
  • मरीज अधिक से अधिक आराम करे, पानी पिए ताकि डिहाइड्रेशन का शिकार न हो।
  • दिन में तीन बार कार्बोहाइट्रेड, हाई प्रोटीन फूड लें।
  • आइसोलेशन के दौरान किसी प्रकार का नशा न करें
  • मरीज को अपने इस्तेमाल की चीजें, जैसे बर्तन तौलिया अलग रखना होगा।
  • 7 दिनों का आइसोलेशन पूर होने पर जांच करवाने की जरूरत नहीं है।

इन्हें नहीं मिलेगी होम आइसोलेशन की सुविधा

  • 60 साल से अधिक आयु के ऐसे लोग जिन्हें दूसरी गंभीर बीमारियां हैं।
  • HIV, कैंसर, किसी तरह का ट्रांसप्लांट हुआ हो, ऐसे मरीजों के लिए होम आइसोलेशन उचित नहीं।
  • गर्भवती महिला, बुजुर्ग, गुर्दे की बीमारी वाले, अस्थमा या सांस की बीमारी वालों को भी होम आइसोलेशन पर रखने की अनुमति नहीं होगी। इन्हें संक्रमित व्यक्ति से भी दूर रहना होगा।

इस सिचुएशन में जाना होगा अस्पताल

  1. जब तीन दिनों तक 100 डिग्री से अधिक बुखार हो।
  2. जब सांस लेने में दिक्कत आ रही हो, सीने में तेज दर्द हो।
  3. ऑक्सीजन लेवल 94-95 प्रतिशत से कम हो।
  4. मानसिक भ्रम या अधिक घबराहट हो रही हो।

कोरोना मरीजों के लिए काम के नंबर्स
कोरोना मरीजों की सहायता के लिए 24 घंटे कंट्रोल रूम ऑपरेट हो रहा है। यहां 07712445785, 7880100331, 7880100332 नंबर पर संपर्क किया जा सकता है। होम आइसोलेशन पर रह रहे मरीजों को डॉक्टर्स की सलाह 7566100283, 7566100284, 7566100285, 7880100313, 7880100314, 7880100315 नंबर के जरिए मिलेगी।

80 हजार से अधिक मरीज होम आइसोलेशन में रहकर ठीक हुए
पिछले 24 घंटे में रायपुर में 2023 कोविड मरीज मिले हैं। इसमें 180 के करीब मरीज अस्पताल में भर्ती किए गए हैं। बाकि के लोग होम आइसोलेशन में रहकर इलाज करवा रहे हैं। 13 जनवरी की रात तक के आंकड़ों के मुताबिक प्रदेश में 4 हजार 445 लोग ठीक होने के बाद होम आइसोलेशन से डिस्चार्ज किए गए। अब तक 80 हजार से अधिक मरीज होम आइसोलेशन में रहकर ठीक हो चुके हैं।

Tags
Back to top button