VASTU TIPS

घर के इस वास्तु दोष के कारण हमेशा बना रहता है मानसिक तनाव

कई बार न चाहते हुए भी हमारी खुशियों को कलह का ग्रहण लग जाता है और आए दिन किसी न किसी बात को लेकर घर के सदस्य लड़ते-झगड़ते रहते हैं. फिर चाहे बच्चों की बात पर होने वाला झगड़ा हो या फिर बड़े-बुजुर्गों के बीच होने वाली तकरार हो. कारण भले ही चाहे अलग-अलग हों लेकिन कलह या फिर कहें मानसिक तनाव कभी भी किसी भी गरीब या अमीर व्यक्ति को हो सकता है. यदि आपको लगता है कि कलह या तनाव के कारण आपका जीवन प्रभावित हो रहा है तो उसे दूर करने के लिए एक बार आप अपने घर से जुड़े उन वास्तु दोषों पर जरूर नजर दौड़ाएं, जिनके कारण अक्सर घर की सुख-समृद्धि और सौभाग्य प्रभावित होता है. आइए जानते हैं कि आखिर किन वास्तुदोषों के कारण किसी घर में होता है क्लेश और क्या है उसे दूर करने का महाउपाय –

  1. यदि आप मानसिक तनाव से बचना चाहते हैं तो हमेशा बिजली/गर्मी पैदा करने वाले सौर उपकरण कमरे के दक्षिण-पूर्व कोने में रखें.
  2. वास्तु के अनुसार घर के ईशान कोण हमेशा नीचा और दक्षिण-पश्चिम भाग को ऊंचा रहना चाहिए. यदि किसी भी घर के भीतर इसका उल्टा नियम अपनाया गया तो उस घर का स्वामी हमेशा कर्ज और बीमारी के कारण मानसिक तनाव में रहेगा तथा व्यसनों का शिकार अधिक होगा
  3. वास्तु के अनुसार जिस घर के ईशान कोण में कुआं, बोरिंग, भूमिगत पानी की टंकी होती है, या फिर इस कोण में किसी प्रकार का गड्ढा होता है तो उस घर का मुखिया आमदनी से ज्यादा खर्च होने के कारण मानसिक तनाव रहते हैं.
  4. वास्तु के अनुसार यदि किसी के घर का ईशान कोण संकरा और आग्नेय बढ़ा है तो ऐसे घर में रहने वालों की सेहत प्रभावित होती है और उस घर में अक्सर आपसी कलह बनी रहती है.
  5. वास्तु के अनुसार यदि घर का नैर्ऋत्य कोण छोटा है या तंग है तो घर की मालकिन अक्सर बीमारी और शत्रुओं के चलते परेशान रहती है. उसे हमेशा मानसिक अवसाद रहेगा.
  6. वास्तु के अनुसार जिस घर का वायव्य कोण का बढ़ाव पश्चिम के साथ मिलकर होता है, वहां रहने वाले परिवार का धन नाश होता है और अक्सर होने वाली अनहोनी के कारण वह परेशान रहता है.

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker