Tech News

सावधान ! फिर सामने आए ये खतरनाक 15 ऐप्स, कहीं ये आपके मोबाइल में तो नहीं है?

आपके मोबाइल में कई ऐप हैं. इस ऐप का उपयोग करने से आपके विभिन्न कार्य आसान हो जाते हैं, लेकिन कुछ ऐप्स खतरनाक भी होते हैं। अगर ये ऐप मोबाइल में आ जाते हैं तो आपको होने वाले फायदों का खामियाजा भी भुगतना पड़ता है।

यह आपको मानसिक और आर्थिक रूप से भी प्रभावित कर सकता है। इसलिए सभी को इससे सावधान रहने की जरूरत है।

साइबर हमलों के लिए विशेषज्ञ सलाह जोकर मैलवेयर की पहचान की गई है। साइबर सुरक्षा फर्म के विश्लेषक शिश्कोवा ने जोकर मैलवेयर की वापसी पर चिंता व्यक्त करते हुए एक ट्विटर अलर्ट जारी किया है। जोकर मैलवेयर गूगल प्ले स्टोर में प्रवेश कर गया है। परिणामस्वरूप, लगभग 15 Android ऐप्स ब्लॉक कर दिए गए हैं। इसका इस्तेमाल सुरक्षित नहीं है। तो अगर आपके स्मार्टफोन में हैं ये 15 खतरनाक ऐप्स, तो करें इन्हें तुरंत डिलीट नहीं तो बड़ा नुकसान हो सकता है।

गूगल प्ले स्टोर पर लिस्ट हुए

पिछले साल जोकर ऐप ने कई ऐप को संक्रमित किया था। उसके बाद हालात और बिगड़ गए, इसलिए Google ने बड़ी संख्या में ऐप्स को Play Store से हटा दिया। इस तरह के ऐप 2017 से Google Play Store पर उपलब्ध हैं। Google Play Store पर सूचीबद्ध कई ऐप्स को उपयोग करने के लिए खतरनाक बताया गया है, और उन्हें 50,000 से अधिक बार डाउनलोड किया जा चुका है।

मालवेयर क्या है

जोकर मालवेयर को सबसे खतरनाक प्रकार माना जाता है। वे किसी भी मोबाइल एप्लिकेशन को बेहद गोपनीय तरीके से एक्सेस करते हैं और यहां तक ​​कि गोपनीय भी रहते हैं। जोकर ऐप्स आपकी जानकारी और सहमति के बिना मोबाइल से प्रीमियम सेवाओं की सदस्यता को सक्रिय करते हैं। यह Google सुरक्षा को दरकिनार कर देता है। ये ऐप्स Google Apps पर सूचीबद्ध हैं। उन्हें फर्जी रेटिंग और कमेंट भी दिए जाते हैं। जब उपयोगकर्ता इन ऐप्स को डाउनलोड करते हैं, तो डेवलपर ऐप्स को अपडेट करता है और मैलवेयर को हटा देता है। तभी खतरा पैदा होता है।

ये हैं डेंजरस एप्स

इजी, पीडीएफ, स्कैनर, नाउ, क्यूआरकोड स्कैन, सुपर-क्लिक, वीपीएन, वॉल्यूम, बूस्टर, लाउडर, साउंड इक्वलाइजर, बैटरी चार्जिंग, एनिमेशन, बबल इफेक्ट, स्मार्ट टीवी, रिमोट, वॉल्यूम, बूटिंग, इनके नाम हैं फ्लैश, अलर्ट कॉल, हैलोवीन, कलरिंग, क्लासिक, इमोजी, कीबोर्ड, सुपरहीरो, फोटो एडिटर, इजी फोटो आदि।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!