Entertainment

‘Kabir Singh’ की सफलता ने शाहिद को बनाया ‘भिखारी’, मेकर्स के जोड़ते थे हाथ

बॉलीवुड एक्टर शाहिद कपूर के फिल्मी करियर में ‘कबीर सिंह’ टर्निंग पॉइंट साबित हुई. हाल ही में शाहिद कपूर की अपकमिंग फिल्म ‘जर्सी’ का ट्रेलर रिलीज हुआ है जो दर्शकों को काफी पसंद आ रहा है. इस फिल्म के लिए शाहिद कपूर ने काफी मेहनत की है. ट्रेलर लॉन्च के दौरान शाहिद ने फिल्म कबीर सिंह के बाद की अपनी जर्नी फैंस को बताई. शाहिद ने बताया कि कबीर सिंह के बाद वो भिखारियों की तरह काम के लिए मेकर्स के पास गए थे.

शाहिद कपूर ने कहा, ‘कबीर ‘सिंह’ की सफलता के बाद मैंने उन मेकर्स को अप्रोच किया, जिनकी फिल्मों ने 200 से 250 करोड़ का बिजनेस किया था. क्योंकि मेरी ये पहली फिल्म थी जिसने 200 करोड़ का बिजनेस किया था. मैं उन सभी मेकर्स के पास गया जिनकी फिल्मों ने 200 से 250 करोड़ का बिजनेस किया था. मैं कबीर सिंह से पहले कभी उस क्लब का हिस्सा नहीं था, इसलिए ये चीजें मेरे लिए बिल्कुल नई थीं. मेरे 15-16 साल के करियर में कभी इतनी बड़ी सफलता नहीं मिली. इसलिए, जब यह हुआ तो मुझे समझ नहीं आ रहा था कि मुझे कहां जाना चाहिए. मेरे लिए सब बिल्कुल अलग और बिल्कुल नया था.’

कबीर सिंह की अपार सफलता के बाद अब की बार शाहिद कपूर नये अंदाज में क्रिकेटर के रूप में नजर आने वाले हैं. फिल्म ‘जर्सी’ 31 दिसंबर को देशभर के सिनेमाघरों में रिलीज होने वाली है. फिल्म ‘जर्सी’ भी इसी नाम से बनी हिट फिल्म ‘जर्सी’ की रीमेक है. एक क्रिकेटर के तौर पर राष्ट्रीय टीम में अपनी जगह नहीं बना पाने और फिर तंगहाली का जीवन जीने के‌ लिए मजबूर शख्स का रोल निभा रहे शाहिद कपूर ने बताया कि असल जिंदगी में स्कूल के दौरान उन्हें क्रिकेट खेलना बेहद पसंद था. शाहिद ने बताया कि करीब 25 साल बाद एक बार से हाथ में बैट और बॉल उठाना और क्रिकेट खेलना‌ उनके लिए आसान काम नहीं था.

Tags

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!