NATIONAL

जिले में संदिग्ध हालात में कम से कम 25 लोगों की मौत, कई लोगों की आंखों की रोशनी गई, मंत्री बोले- सरकार को बदनाम करने की साजिश.

बिहार के गोपालगंज एवं पश्चिम चंपारण जिले में संदिग्ध हालात में कम से कम 25 लोगों की मौत हुई है. बताया जा रहा है कि इन सभी लोगों की मौत जहरीली शराब पीनी की वजह से हुई है. शराब गांव में बिक रही थी. गोपालगंज जिले में शराब पीने से एक दर्जन लोगों की जान गई है जबकि सात से आठ लोग अस्पताल में भर्ती हैं. बेतिया में भी शराब पीने से करीब 10 लोगों की मौत हुई है.

बिहार में शराब की बिक्री पर प्रतिबंध है, बावजूद इसके शराब पीने से यदि लोगों की मौत हुई है तो यह कानून-व्यवस्था पर सवाल खड़े करता है. ये सभी मौतें पिछले दो दिनों में हुई हैं. गोपालगंज में 16 लोगों की मौत हो गई. हालांकि दोनों ही ज़िलों के प्रशासन ने फिलहाल मौत की वजह की पुष्टि नहीं की है.पिछले दस दिनों में उत्तरी बिहार में शराब पीने से मौत की यह तीसरी घटना है. इस मौके पर बिहार के मंत्री जनक राम ने गोपालगंज का दौरा किया.

उन्होंने कहा, “मैंने उन लोगों के घरों का दौरा किया है जिनकी कथित तौर पर नकली शराब पीने से मौत हुई थी. यह एनडीए सरकार को बदनाम करने की साजिश हो सकती है.”पुलिस के मुताबिक मारे गए कुछ लोगों का उनके परिवार वालों ने अंतिम संस्कार कर दिया है. गुरुवार को इलाज के दौरान चार लोगों की मौत हो गई और दो लोगों ने अस्पताल ले जाते समय ही दम तोड़ दिया. मौत के कारणों की पुष्टि नहीं कर रहा है.

प्रशासन गोपालगंज के पुलिस अधीक्षक आनंद कुमार का कहना है कि पिछले दो दिनों में जिले के मुहम्मदपुर गांव में कुछ लोगों की रहस्यमय परिस्थितियों में मौत हो गई है. जब तक पोस्टमार्टम रिपोर्ट नहीं आ जाती, मौत के कारणों की पुष्टि नहीं की जा सकती. फिलहाल तीन टीमें इस मामले की जांच कर रही हैं.

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!