CrimeLATEST NEWSNational

नाबालिग लड़की का अपहरण, तीन दरिंदों ने किया सामूहिक दुष्कर्म, सुनसान जगह पर छोड़कर भागे

बिहार में बेगूसराय जिले के भगवानपुर थाना क्षेत्र के एक गांव में 11 अक्टूबर की रात 13 वर्षीय एक नाबालिग लड़की का अपहरण कर तीन बदमाशों ने हथियार के बल पर सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया था.

इस घटना के बाद पीड़िता के द्वारा चार दिनों तक थानों से लेकर एसपी ऑफिस तक चक्कर लगाया जाता रहा. लेकिन मामला शुक्रवार की रात महिला थाना में दर्ज किया गया. वहीं, इस घटना के विरोध में आयशा के कार्यकर्ताओं ने डीएम ऑफिस पर प्रदर्शन किया और सामूहिक दुष्कर्म के आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की.

नवरात्र के दौरान दरिंदों के द्वारा अपहरण करके सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिये जाने से लोग काफी आक्रोशित हो गये हैं. इस मामले में पीड़ित पक्ष ने पुलिस पर प्राथमिकी दर्ज नहीं करने का आरोप लगाया है. पीड़ित का पक्ष कहना है कि पुलिस ने पीड़िता को थाने से भगा दिया था. उनलोगों ने यह भी आरोप लगाया है कि आरोपितों को बचाने के प्रयास में पुलिस लगी है.

बताया जाता है कि दरिंदों ने सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम देने के बाद पीड़िता को सुबह सुनसान जगह पर छोड़कर भाग गए थे. पीड़िता ने आरोप लगाया है कि 11 अक्‍टूबर की रात खाना खाने के बाद कुछ सामान लाने वह दुकान जा रही थी. रास्‍ते में गांव के तीन युवकों विकास तांती, संतोष तांती एवं मनीष सहनी ने उसका अपहरण कर लिया. वे जबरन उसे खींचते हुए एक खेत में ले गए. वहां तीनों ने उसके साथ दुष्‍कर्म किया. पूरी रात उनलोगों ने उसकी अस्‍मत लूटी. सुबह होने पर आंख बंद कर उसे गांव के नजदीक छोड़ दिया.

यह धमकी भी दी कि किसी को कुछ बताया तो जान से मार डालेंगे. उधर रातभर गायब लड़की तलाश में परिजन परेशान थे. सुबह जब वह बदहवासी की हालत में घर पहुंची तो उसे देखकर सभी सकते में आ गए. परिजनों ने पूछा तो लड़की ने पूरी आपबीती सुना दी. इसके बाद स्‍वजन भगवानपुर थाने पहुंचे.

आरोप है कि वहां की पुलिस ने प्राथमिकी करने से इंकार कर दिया. थक-हार कर पीड़िता महिला थाने पहुंची. वहां भी प्राथमिकी नहीं की गई. उसे डीएसपी के पास जाने को कहा गया. पीड़ित पक्ष का कहना है कि वहां भी उसे दुत्‍कार दिया गया. इसके बाद पीड़िता अपने परिजनों के साथ बेगूसराय के एसपी अवकाश कुमार से न्याय की गुहार लगाने पहुंची.

पीड़िता के परिवार का कहना है कि लगभग चार दिनों तक मामला दर्ज करवाने के लिए वो थाने से लेकर एसपी ऑफिस के चक्कर काटते रहे. किसी ने उनकी मदद नहीं की. आखिर में विजयादशमी की रात महिला थाने में पीड़िता ने आवेदन देकर मामला दर्ज करवाया. उधर, मामला प्रकाश में आने के बाद पुलिस सक्रिय हुई है.

महिला थाने के द्वारा आज पीड़िता की मेडिकल जांच कराई गई है. इस बीच एक आरोपित ने लडकी के पिता को काल कर धमकी दी है. इसका आडियो वायरल हो रहा है. महिला थानाध्यक्ष अवंती कुमारी ने बताया की मामला संज्ञान में आते ही वरीय अधिकारियों के निर्देश पर प्राथिमिकी दर्ज की गई है. पीड़िता ने तीन लोगों को आरोपित बनाया है. पुलिस के द्वारा आगे की कार्रवाई की जा रही है.

Tags

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!