Aajtak ki khabarCG NEWSChhattisgarh

संविदाकर्मी को इस तरह निकाले जाने को लेकर अनियमित कर्मचारी संघ के पदाधिकारियों ने जताई नाराजगी.. कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन.

रायगढ़। राजीव गांधी शिक्षा मिशन समग्र शिक्षा अंतर्गत लैलूंगा में पदस्थ संविदाकर्मी लेखापाल को 9 वर्ष की सेवा उपरांत बीते सप्ताह कार्य से मुक्त कर दिया गया। संविदाकर्मी को इस तरह निकाले जाने को लेकर अनियमित कर्मचारी संघ के पदाधिकारियों ने नाराजगी व्यक्त करते हुए कलेक्टर के समक्ष ज्ञापन सौंपकर सेवा बहाली का निवेदन किया।

असंगठित कर्मचारी संघ की ओर से बताया गया कि लैलूंगा विकासखंड में समग्र शिक्षा अभियान में पदस्थ लेखापाल दुर्गेश प्रताप मेहर विगत 9 वर्षों से काम कर रहे थे। बीईओ कार्यालय लैलूंगा में पदस्थ दुर्गेश प्रताप मेहर की सेवा अवधि में उसकी कोई भी कर्तव्य से जुड़ी शिकायत सामने नहीं आई। बावजूद इसके बीईओ कार्यालय में संविदा कर्मचारियों की सेवा उत्कृट होने का मापदंड का हवाला देते हुए दुर्गेश की सेवा को संतोषप्रद बताकर उसे सेवा मुक्त कर दिया गया।

कर्मचारी संघ का कहना है कि संविदा कर्मी को इस तरह अचानक काम से हटाए जाने के कारण उसके उपर आर्थिक संकट आन पड़ा है। अनियमित कर्मचारी संघ ने कलेक्टर को ज्ञापन सौंपकर दुर्ग मेहर को पुनः बहाल करने की मांग की है।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!