Aajtak ki khabarChhattisgarhKORBA LATEST NEWSKUSMUNDA NEWSKusmunda policeKUSMUNDA UPDATES

बेरोजगारी से परेशान होकर युवक ने मौत को लगाया गले, कुसमुण्डा में बीते एक सप्ताह में फाँसी लगाकर आत्महत्या करने का तीसरा मामला

कोरबा 12 सितम्बर 2021 – जिले की कुसमुण्डा थाना क्षेत्र में बीते एक सप्ताह में फांसी लगाकर आत्महत्या करने का आज फिर एक मामला सामने आया है, बीते एक सप्ताह के भीतर यह तीसरी घटना है,जिससे क्षेत्र में शोक का माहौल है। मिली जानकारी के अनुसार कुसमुण्डा थाना अंतर्गत ग्राम खम्हरिया के वैशाली नगर में किराये के मकान में रहने वाले 28 वर्षीय मुकेश कुमार पिता बंशी लाल यादव ने घर के कमरे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। इनका स्थायी मकान रातखार में बताया जा रहा है।

आसपास रहने वाले लोगो ने बताया कि मुकेश बहुत ही मेहनती था, पर काम को लेकर काफी परेशान था, कोरोना की वजह से काम छूटने के बाद कई स्थानों पर काम कर रहा था पर किसी भी स्थान पर काम स्थायी नही चल पाने की वजह से वो दुःखी था। आशंका जताई जा रही है कि इसी निराशा में उसने ऐसा आत्मघाती कदम उठाया है। हालांकि स्थानिय पुलिस की जांच में वास्तविकता सामने आएगी। घटना आज शाम लगभग 5 बजे की बताई जा रही है। कुसमुण्डा पुलिस सूचना मिलते ही मौके पर पँहुची, परिजनों की उपस्थिति में शव को नीचे उतारा गया, पंचनामा कार्यवाही कर पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है।

आपको बता दें इस सप्ताह कुसमुण्डा थाना क्षेत्र में यह तीसरी घटना है । बीते 5 सितम्बर की देर शाम पाली थाना क्षेत्र में रहने वाले दिलहरन नामक युवक ने कबीर चौक बस्ती में अपने ससुर की बाड़ी में लगे एक पेड़ में फांसी लगा ली थी। जिसके अगले दिन 6 सितम्बर को विकास नगर में रहने वाले युवक राम साहू ने भी अपने घर के कमरे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। जिसके बाद आज महज एक सप्ताह के भीतर फांसी लगाकर आत्महत्या करने की यह तीसरी घटना सामने आयी है।

ये सभी घटानाये एक स्वस्थ समाज के लिए बेहद दुःखद पहलू है। शारीरिक रूप सक्षम होते हुए भी आज लोग मानसिक रूप से कमजोर होकर आत्मघाती कदम उठा रहे है जो चिंता का विषय है। हर समस्या का हल समय के गर्त में छुपा हुआ है, जरूरत है हिम्मत रख कर चलने की, जीवन की चुनौतीयो से लड़कर जीवन की अमूल्यता को समझने की। “जिंदा वही नही हैं जो जीत गए हैं वो भी जिंदा हैं जो हारे है,” इस उम्मीद में की कल जीतेंगे, तो उम्मीद मत छोड़िए । उनके लिए जी लीजिये जो आपको देख कर जीते हैं। जीवन अमूल्य है इसे ऐसे आसानी से ना गंवाइए ।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!