ChhattisgarhKORBA LOCAL NEWS

संवाददाता:-मुकेश भारती

 

कोरबा। कोरबा नगर निगम क्षेत्र में मोंगरा वार्ड की माकपा पार्षद राजकुमारी कंवर ने अपने वार्ड के दौरे के बाद आरोप लगाया है कि महापौर और निगम आयुक्त केवल शहरी इलाकों की सफाई और सैनिटाईजेशन पर ध्यान दे रहे है। कोरोना महामारी जैसे समय में भी इस ग्रामीण वार्ड की उपेक्षा की जा रही है और स्वच्छता के अभाव में संक्रमण फैलने और अन्य बीमारियों का फैलाव होने का जबरदस्त खतरा बना हुआ है।
माकपा पार्षद के साथ पार्टी के जिला सचिव प्रशांत झा, जवाहर सिंह कंवर और दिलहरण बिंझवार आदि माकपा कार्यकर्ता भी थे।

मीडिया के लिए वार्ड में बिखरी गंदगी की तस्वीरें जारी करते हुए उन्होंने बताया कि वार्ड में न तो नालियों की नियमित सफाई हो रही है और न ही कचरा का उठाव जो रहा है। इसके कारण नालियों का गंदा पानी सड़कों में बह रहा है और ग्रामीणजन बदबू भरे गंदे पानी मे चलने के लिए मजबूर है। माकपा पार्षद ने गंदगी को देखने के बाद महापौर और सफाई से जुड़े अधिकारियों से भी वार्ड की तत्काल सफाई और सैनिटाईजेशन कराने की मांग की है, ताकि जान-माल की हानि की आशंका से बचा जा सके।

माकपा जिला सचिव प्रशांत झा ने सवाल किया है कि पिछले वर्ष बजट में सफाई के मद में आबंटित करोड़ों रुपये कहां गए? उन्होंने कहा कि इस बजट का 1% भी मोंगरा जैसे पिछड़े वार्ड में खर्च नहीं किया गया है, जिससे जन स्वास्थ्य पर खतरा मंडरा रहा है। माकपा नेता ने तीखे स्वरों में कहा है कि यदि निगम वाकई में इतना गरीब हो गया है कि वह इस इलाके की सफाई करवाने में असमर्थ है, तो मोंगरा वार्ड की पार्षद इस काम के लिए अपना वेतन देने और नागरिक चंदा जमा करके निगम को देने के लिए तैयार है।

 

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!