Health

इन लोगों को है कोरोना का सबसे ज्यादा खतरा, इस लिस्ट में कहीं आप भी तो नहीं?

कोरोना वायरस महामारी पूरे भारत में बहुत तेजी से फैल रही है, केंद्र सरकार ने आज कोरोना संक्रमण को बढ़ाने वाले कारणों की एक सूची साझा की। सरकार के #IndiaFightsCorona ट्विटर अकाउंट पर इस सूची को साझा किया गया, जिसका उद्देश्य लोगों में कोरोना महामारी को लेकर जागरूक करना है। इसमें बताया गया है, धूम्रपान, हृदय और सांस लेने से संबंधित बीमारी कोरोना वायरस के खतरे को बढ़ा सकती है। सरकार ने ट्विटर अकाउंट के जरिए वायरस बढ़ाने वाले खतरों को लेकर गाइडलाइन जारी की है।

– जिनकी आयु 60 वर्ष या उससे अधिक है। केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय, कोविड -19 पर अपने आधिकारिक दिशानिर्देशों में कहते हैं कि वृद्ध लोगों, विशेष रूप से 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों में कोरोना संक्रमण की ज्यादा संभावना होती है। ऐसे लोगों में कोरोनोवायरस एक गंभीर बीमारी विकसित करता है।

– विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अनुसार, तंबाकू का सेवन करने से कोविड -19 संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है। वर्तमान में SARS-CoV-2 संक्रमण और धूम्रपान के बीच लिंक को ठीक से परिभाषित करने के लिए पर्याप्त रूप से डिजाइन किए गए सहकर्मी की समीक्षा की गई, जनवरी में किंग्स कॉलेज लंदन के रिसर्चर की तरफ से किए गए एक अध्ययन से पता चला है कि अस्पताल में भर्ती मरीजों में धूम्रपान करने वालों की संख्या धूम्रपान नहीं करने वालों की संख्या से अधिक है।

– डायबेटिक मरीजों में कोविड -19 के गंभीर लक्षण या मृत्यु होने की संभावना तीन गुना अधिक है।

– नॉन कम्युनिकेबल डिजीज भी व्यक्ति में कोविड संक्रमण के खतरे को बढ़ाती हैं और उन्हें कोरोनोवायरस रोग से निपटने के लिए अतिसंवेदनशील भी बनाती हैं जैसे कार्डियोवस्कुलर बीमारी इनमें हृदय से संबंधित समस्या जैसे हार्ट फेलियर जैसी बीमारियां शामिल हैं। डब्ल्यूएचओ के अनुसार, इस बीमारी के कारण कोविड – 19 खतरे को लोगों में  2.3, 2.9 और 3.9 गुना बढ़ाया गया है।

Tags

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!