Chhattisgarh

दीपका: क्षेत्र को खुद की बनाई मशीन से कर रहे सैनिटाइज़, मशीन बनी आकर्षण का केंद्र

रिपोर्ट: शेत मसीह inn24news

दीपका . जहाँ एक ओर कोरबा में कोरोना के बढ़ते हुए दायरे से सम्पूर्ण कोयलांचल में हाहाकार मचा हुआ है वहीं प्रशासनिक अधिकारियों समेत विभिन्न जनप्रतिनिधि भी कोरोना का डटकर मुकाबला करने से पीछे नही हट रहे हैं । ताजा उदाहरण नगर पालिका परिषद दीपका में सामने आया है जहाँ के पार्षद गया प्रषाद चंद्रा व साथी विशाल शुक्ला , अनिल धीमन (नीलू) , अजय शर्मा , मार्शल अन्थोनी आदि ने स्वयं के बनाये हुए सैनिटाइज़ेशन मशीन से पूरे पालिका परिक्षेत्र को सैनिटाइज़ करने का बीड़ा उठाया है । स्वयं के खर्च से ट्रैक्टर में लगाये गए डीजी सेट चलित सैनिटाइजर मशीन की खासियत ये है कि ये मशीन ग्रामीण क्षेत्रों  की पतली गलियों में भी घुसकर सैनिटाइज़ेशन का कार्य करने में सक्षम है ।
एसईसीएल द्वारा भी सैनिटाइज़ेशन मशीन बनाया गया है परन्तु आकार में बड़ा होने के कारण एसईसीएल की सैनिटाईजिंग मशीन का उपयोग केवल एसईसीएल के चौड़े मार्गों में ही किया जा सकता है । एसईसीएल की अंदरूनी कॉलोनियों में यह मशीन सैनिटाइज़ेशन के लिए अनुपयोगी साबित हो रही है । अंदरूनी गलियों एवं दीपका बसावट के वार्डों में सैनिटाइज़ेशन का जिम्मा गया प्रसाद चंद्रा व उनकी टीम ने उठाया हुआ है एवं इसी को ध्यान में रखकर इन्होंने ट्रेक्टर में सैनिटाइजर मशीन बनाया है जो सभी क्षेत्रों को सैनिटाइज़ करने में सक्षम है ।

एसईसीएल की मशीन को देखकर 2 दिन में बनाई हूबहू मशीन , ज्यादा कारगर 

पेशे से इलेक्ट्रिकल व मेकेनिकल ठेकेदार गया प्रसाद चंद्रा व अजय शर्मा ने एसईसीएल की सैनिटाइज़ेशन मशीनों को देखकर उसके जैसी ही हूबहू दूसरी मगर छोटी मशीन बनाने का निर्णय लिया व सफल भी हुए । मशीन को ट्रेक्टर के पीछे ट्राला में सुव्यवस्थित तरीके से सेट किया गया है । डीजी सेट संचालित मोटर फैन से तेज हवा एक दिशा में निकलती है जो अपने साथ हाइपो क्लोराइड लिक्विड मिक्सचर की बौछार करती है । ट्राले में हाइपो क्लोराइड रखने के लिए 1000-1000 लीटर के दो कंटेनर भी सेट किये गए हैं । ट्रेक्टर का संचालन अनिल धीमन (नीलू) करते हैं जिन्होंने क्षेत्र की जनता के लिए ये श्रमदान स्वयं करने का निर्णय लिया है । यह मशीन आसपास के क्षेत्रों में चर्चा का विषय बनी हुई है ।

पहले भी करते रहे हैं इस प्रकार के कार्य

पिछले वर्ष भी गया प्रसाद चंद्रा, विशाल शुक्ला व उनकी टीम ने क्षेत्र में सैनिटाइज़ेशन के साथ साथ , मास्क व राशन वितरण का कार्य किया था । महिला स्व-सहायता समूहों द्वारा निर्मित मास्क को स्वयं के निजी खर्च में खरीदकर ज़रूरतमंदों को मुफ्त-वितरण का कार्य भी इनके द्वारा किया जाता रहा है । कोविड-19 के फर्स्ट वेव के दौरान भी गया प्रसाद चंद्र व विशाल शुक्ला द्वारा करीबन 10000 मास्क निशुल्क उपलब्ध करवाया गया था ।

नगर पालिका को सीख लेने की आवश्यकता

जहाँ एक ओर गया प्रसाद चंद्रा व उनकी टीम जैसे कर्तव्य-निष्ठ जनप्रतिनिधियों ने सैनिटाइज़ेशन जैसे कठिन कार्य का बीड़ा उठाया हुआ है वहीं दूसरी तरफ नगर पालिका परिषद दीपका का सुस्त रवैय्या क्षेत्र में चिंता का कारण बना हुआ है । पालिका प्रशासन द्वारा क्षेत्र में सैनिटाइज़ेशन की कमी व नाकों पर लापरवाही जैसी शिकायतें आती रहती हैं । कोविड के फर्स्ट वेव के दौरान भी कॉन्टेन्टमेंट ज़ोन में पालिका द्वारा किसी प्रकार का सैनिटाइज़ेशन का कार्य नही किया गया था ।

अपनी टीम व तहसीलदार दीपका का जताया आभार

सैनिटाइज़ेशन मशीन के निर्माता व संचालक गया प्रसाद चंद्रा ने मशीन निर्माण व संचालन में सहयोग के लिए वरिष्ठ काँग्रेसी विशाल शुक्ला , अनिल धीमन , अजय शर्मा , मार्शल एंथोनी आदि के साथ साथ हाइपोक्लोराइड उपलब्ध करवाने के लिए दीपका नायब तहसीलदार श्री शशि भूषण सोनी का आभार व्यक्त किया है । क्षेत्र के लोगों ने भी इस उत्कृष्ट कार्य के लिए इन जनप्रतिनिधियों की मुक्त कंठ से प्रशंसा की है ।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!