National

कोरोना पर लगाम लगाने गहलोत सरकार ने तैयार किया ‘मेगा प्लान’, जानिये क्या है इस प्लान में.

कोराना की दूसरी लहर को रोकने के लिए प्रदेश के सभी जिला कलेक्टर्स ने आदेशों की पालना के तहत जिलों की सीमाओं पर सख्ती बढ़ा दी है. राज्य के बाहर से सड़क मार्ग से आने वाले लोगों की आरटी पीसीआर नेगेटिव जांच रिपोर्ट की जांच के लिए चेक पोस्ट स्थापित कर दी गई है. इसके साथ ही बोर्डर चेक पोस्ट पर प्लस ऑक्सीमीटर की उपलब्धता सुनिश्चित करवाई जा रही है.

कलेक्टर्स के सामने बड़ी चुनौती गृह विभाग की ओर से जारी की गई गाइडलाइन की पालना करवाने की है. उसके मुताबिक अब जिला कलक्टर को और अधिक शक्तियां प्रदान कर दी गई हैं. जिला कलक्टर अपने जिले में स्थिति के आधार पर नाइट कर्फ्यू पर निर्णय ले सकते हैं. गृह विभाग के आदेश के बाद जोधपुर और बीकानेर समेत अन्य जिलों के कलेक्टर्स ने सख्त कदम भी उठाने भी शुरू कर दिए हैं.

इन पर है ज्यादा फोकस

कलेक्टर्स का फोकस विवाह संबंधी समारोह, भीड़ भाड़ इलाकों, रेस्टोरेंट्स और शिक्षण संस्थाओं में गाइडलाइन की पालना करवाने पर है. मास्क पहनने और सामाजिक दूरी की पालना के लिए अधिकारी सामाजिक संगठनों और गैर सरकारी संगठनों के सहयोग से आमजन को जागरूक कर रहे हैं.

गाइडलाइन जन अभियान की शुरुआत

कोराना की दूसरी लहर को रोकने के लिए सरकार ने विशेष टीकाकरण एवं गाइडलाइन जन अभियान की शुरुआत की है. 5 अप्रैल से शुरू हुआ यह अभियान 19 अप्रैल तक चलेगा. इसके जरिये कोविड-19 उपयुक्त व्यवहार जैसे सामाजिक दूरी मानक संचालन की प्रक्रिया की सख्त अनुपालना सुनिश्चित की जाएगी. संयुक्त परिवर्तन दलों के सहयोग के लिए एंटी कोविड टीम बनायी जाएगी. इसमें जिला कलेक्टर के पर्यवेक्षण में राज्य सरकार के विभागों के अधिकारी द्वारा सहायता की जाएगी. यह दल को covid appropratte Behaviour की पालना एवं टीकाकरण जन जागरण अभियान में सहयोग कराएगा.

एंटी कोविड टीमें कराएंगी पालना

गहलोत सरकार ने कोरोना वायरस के बढ़ते प्रभाव को रोकने के मद्देनजर एंटी कोविड टीमें गठित करने का निर्णय लिया है. ये टीमें लोगों से सरकार की ओर से जारी एसओपी की पालना करवाएगी. टीम में अधिकारियों और कर्मचारियों के अलावा चिकित्सक और पुलिसकर्मी भी शामिल रहेंगे. टीम के सदस्यों को विशेष कैप और आर्म बेज दिए जा सकते हैं. साप्ताहिक आधार पर इनकी ड्यूटी लगाई जाएगी. विभागों के अधिकारियों से इनके नाम पता और मोबाइल नंबर प्राप्त लिये जायेंगे. एंटी कोविड टीम से जांच दल के निर्देशन में काम करेगी.

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!