CG NEWSChhattisgarhJANJGIR-CHAMPA NEWS

कोविड प्रोटोकाल का पालन कराने, नियमित कार्रवाई जारी रखें – कलेक्टर, समय सीमा बैठक संपन्न..

रिपोर्ट : आशीष अग्रवाल

छत्तीसगढ़/जांजगीर-चांपा : कलेक्टर यशवंत कुमार ने आज जिला कार्यालय में आयोजित समय सीमा बैठक में कहा कि कोविड-19, वैश्विक महामारी के संक्रमण से बचाव के लिए जनजागरुकता आवश्यक है। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण से सुरक्षा संबंधी प्रोटोकॉल का पालन करवाने के लिए सभी निकायों के अधिकारी राजस्व एवं पुलिस विभाग के सहयोग से नियमित कार्यवाही जारी रखें। बिना मास्क वाले प्रकरणों में चालानी की कार्यवाही करें, ताकि लोगों में सुरक्षा संबंधी जागरूकता बनी रहे। कलेक्टर ने कहा कि कोविड के नए स्ट्रेन से खतरा बना हुआ है। यह एक संवेदनशील मामला है। अपनी और परिवार की सुरक्षा के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए कोविड सुरक्षा प्रोटोकाल का पालन करना हम सबकी जिम्मेदारी है। कलेक्टर ने कहा कि दुकानों के सामने गोल घेरा का चिन्ह बनवाएं, दुकानों सार्वजनिक स्थानों पर भीड़ एकत्रित ना हो, इस पर सतत निगरानी रखी जाय।

कलेक्टर ने कहा कि प्रथम और द्वितीय चरण में स्वास्थ्य, राजस्व, पंचायत, जेल, पुलिस एवं अन्य संबंधित विभागों के बचे हुए अधिकारियों कर्मचारियों का कोविड टीकाकरण पूर्ण कराना है। उन्होंने टीकाकरण की प्रगति की समीक्षा करते हुए जनपद पंचायत के सीईओ और संबंधित विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि जिस विभाग का टीकाकरण का प्रतिशत कम है वे विशेष रूचि लेकर टीकाकरण की कार्रवाई पूर्ण करायें ।

जाति,निवास प्रमाण पत्र घरों तक पहुंचाएं-

कलेक्टर ने विभागीय काम-काज की समीक्षा करते हुए जिला शिक्षा अधिकारियों और सहायक आयुक्त आदिवासी विकास को निर्देशित किया कि पुराने ऐसे प्रकरण जिसमें विद्यार्थियों के जाति व निवास प्रमाण पत्र बन गए हैं, उनका वितरण सुनिश्चित करें । विद्यार्थियों को स्कूल ना बुलाए प्रमाण पत्र को उनके घरों तक पहुंचाने की व्यवस्था किया जाए। इसी प्रकार नए प्रवेशित विद्यार्थियों के जाति प्रमाण पत्र बनाने के लिए भी कार्यवाही शीघ्र प्रारंभ करें।

वृक्षारोपण की तैयारी शुरू और रोपण में वर्मी कम्पोस्ट का उपयोग करने के निर्देश-

कलेक्टर ने सभी अधिकारियों से कहा कि आगामी मानसून सत्र में पौधारोपण के लिए विभागीय तैयारी प्रारंभ करें। उन्होंने आगामी टी एल बैठक में संबंधित विभागों को वृक्षारोपण के लक्ष्य की जानकारी उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने कहा कि नर्सरी तैयार करने और वृक्षारोपण के लिए गौठान में तैयार किए गए वर्मी कंपोस्ट खाद का उपयोग किया जाएगा। जिससे गौठानों से जुड़े स्व-सहायता समूहो को प्रोत्साहन मिल सके।

कलेक्टर ने सभी जनपद सीईओ से कहा कि गौठान से संबंधित सभी एक्टिविटी गौठान परिसर में ही संपन्न कराई जाए। लक्ष्य के अनुसार गोबर खरीदी निरंतर जारी रहे। इसके लिए सभी गौठानो पर सतत निगरानी रखें। उन्होंने सहकारी बैंक के नोडल अधिकारी से कहा कि केसीसी लोन लेने वाले किसानों को वर्मी कंपोस्ट खाद खरीदने के लिए प्रेरित करें। जिससे गौठान से जुड़े स्व सहायता समूह को लाभ मिले। कलेक्टर ने कहा कि गौठान के लिए उपलब्ध कराए गए सभी संसाधनों का समुचित उपयोग हो यह सुनिश्चित करें। स्व-सहायता समूहो के साथ गौठान समिति भी व्यवसायिक गतिविधियां अपना कर आत्मनिर्भर बने। वर्मी टांका, शेड, सोलर पंप आदि सरकार द्वारा उपलब्ध कराया गया है। संबंधित समूह वर्मी कम्पोस्ट, सब्जी भाजी आदि बेचकर अपने व्यवसाय का स्वयं विस्तार करें। चरवाहों और पशुपालक किसानों से गोबर खरीदी निरंतर जारी रहे यह भी सुनिश्चित किया जाए। उन्होने कहा कि गौठान के लिए भूमि आबंटन और आबंटित भूमि को अतिक्रमण मुक्त रखनेे के लिए संबंधित एसडीएम से समन्वय बनाकर कार्य करे।

धान की सुरक्षा का समुचित प्रबंध करें-

कलेक्टर ने धान खरीदी से संबंधित अधिकारियों से कहा कि धान उपार्जन केंद्र और संग्रहण केंद्रों में रखे गए धान की सुरक्षा के लिए समुचित उपाय सुनिश्चित करें। ऐसे उपार्जन केंद्र जहां चबूतरा नहीं बना है वहां ड्रेनेज की व्यवस्था हो, स्टेकिंग किए गए धान के ऊपर और चारों ओर से डबल लेयर त्रिपाल से ढका हुआ हो यह भी सुनिश्चित करें। धान को बारिश, धूप और चूहों से होने वाले नुकसान से बचाना है। बैठक में वन मंडल अधिकारी श्रीमती प्रेमलता यादव, जिला पंचायत सीईओ श्री गजेन्द्र सिंह ठाकुर, अपर कलेक्टर श्रीमती लीना कोसम, श्री एस एस पैकरा राजस्व विभाग के अधिकारी, संबंधित विभागों के जिला अधिकारी, जनपद पंचायत के सीईओ उपस्थित थे।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!