Chhattisgarh

चिटफंड कंपनियों में फंसे पैसे वापस देने की मांग को लेकर धमतरी से रायपुर तक पैदल मार्च.

रायपुर । चिटफंड कम्पनियों में फंसे निवेशक, अभिकर्ता चिटफंड कंपनियों में फंसे पैसा वापसी की मांग को लेकर छतीसगढ़ अभिकर्ता एवं उपभोक्ता सेवा संघ के प्रदेश अध्यक्ष-गगन कुंभकार, महासचिव-नंद कुमार निषाद, सचिव-ईश्वर पटेल, उपाध्यक्ष-राजेश सारथी, प्रदेश मीडिया प्रभारी-भूपेन्द्र पटेल, सुंदर लाल साहू, डोमन साहू, गणेश राम साहू, फलेंद साहू, याद राम साहू, अजहर चौधरी, शंकर यादव, परमानंद पटेल, ऋषिनारायण पटेल, बेला तेलाम, भुनेश्वरी ठाकुर के साथ-साथ सभी जिला के जिलाध्यक्ष व प्रदेश पदाधिकारियों के नेतृत्व में 22 फ़रवरी से 24 फ़रवरी तक धमतरी से धरना स्थल, बुढा़ तालाब, रायपुर तक पैदल मार्च करते पहुंचे, जहाँ मुख्यमंत्री को मिलकर ज्ञापन देंने पैदल मार्च किया गया था, किन्तु मुख्यमंत्री से मुलाकात न होने की स्तिथि में सभी निवेशक, अभिकर्ता व संघ के पदाधिकारीगण, आगामी मुलाकात होने तक बुढा़ तालाब, रायपुर में ही पंडाल लगाकर इंतज़ार करेंगे।

2015 से लगातार शासन-प्रशासन को अवगत करा रहे…

वर्ष 2015 से छतीसगढ़ अभिकर्ता एवं उपभोक्ता सेवा संघ द्वारा लगातार शासन-प्रशासन को आवेदन, ज्ञापन, धरना आंदोलन करते आ रहे है, जिन आंदोलनों में माननीय मुख्यमंत्री व पूर्व पी.सी.सी. अध्यक्ष भुपेश बघेल की उपस्थिति व समर्थन रहा है, कांग्रेस के सभी विधायकों ने समर्थन करते हुए विधानसभा में भी पैसा वापसी की मुद्दे को उठाया गया, विधानसभा चुनाव-2018 में कांग्रेस जनघोषणा पत्र क्र-34 में निवेशकों को पैसा वापसी की बाते प्रमुखता से अंकित करते हुए विश्वाश दिलाया गया, कि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार बनने पर निवेशकों की चिटफण्ड कम्पनियों में फंसे जमापूंजी वापसी करायी जाएगी, जिस पर विश्वास करते हुए बीस लाख निवेशक परिवार ने कांग्रेस को वोट देकर छतीसग़ढ़ में कांग्रेस की सरकार बनाने में सहयोग किए है, छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार बने दो वर्ष से अधिक हो चुके हैं, छतीसगढ़ शासन-प्रशासन द्वारा एक मात्र यालको कम्पनी की 30% राशि वापसी की गई है, बाकी अन्य चिटफण्ड कम्पनियों की राशि वापसी नहीं की गई, उन चिटफण्ड कंपनियों का भी जमाराशि तत्काल वापस किया जावे।

रिपोर्ट – अनिल नेताम

Show More

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!