National

1 दिसंबर से होने जा रहे हैं कई बदलाव, जेब पर पड़ सकता है सीधा असर.

देश में एक दिसंबर से कई बदलाव होने जा रहे हैं, जिनका सीधा असर आम आदमी की जिंदगी पर पड़ेगा। अगर आपको इस बदलाव के बारे में जानकारी नहीं है तो फिर 1 दिसंबर के बाद जब आपका इससे सामना होगा, तो फिर परेशानी हो सकती है। मुख्य तौर पर 1 दिसंबर से चार बदलाव होने वाले हैं।

ग्राहकों को मिलेगी RTGS की 24 घंटे सुविधा

-एक दिसंबर से बैंक ग्राहकों के लिए रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट (RTGS) की सुविधा 24*7 घंटे उपलब्ध होगी।
-रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने कहा है कि 1 दिसंबर 2020 से RTGS ट्रांजैक्शन की सुविधा 24 घंट के लिए उपलब्ध होगी।
-कोरोना काल में ऑनलाइन ट्रांजैक्शन में काफी तेजी आई है।
-इससे पहले आरबीआई ने NEFT के नियमों में भी बदलाव किया था।
-NEFT की सुविधा दिसंबर 2019 से 24 घंटे उपलब्ध है।
-मौजूदा नियमों के मुताबिक, दूसरे और चौथे शनिवार को छोड़कर महीने के सभी वर्किंग डे पर सुबह 7 बजे से शाम 6 बजे तक RTGS की मदद से फंड ट्रांसफर किया जा सकता है, जो एक दिसंबर से बदल जाएगा, और 24 घंटे यह सुविधा उपलब्ध होगी।

नई ट्रेनों का परिचालन होगा शुरू

-कोरोना संकट की वजह से अभी भी कई रूटों पर ट्रेनों की आवाजाही सामान्य नहीं हो पाई है। लेकिन अब रेलवे की ओर से 1 दिसंबर से कई रूटों पर ट्रेनों का परिचालन शुरू किया जा रहा है।
-एक दिसंबर से यात्रियों के लिए झेलम एक्सप्रेस और पंजाब मेल ट्रेनें उपलब्ध होंगी।
-रेलवे ने बताया कि दोनों ट्रेनों को सामान्य श्रेणी के तहत चलाया जा रहा है।
-01077/78 पुणे-जम्मूतवी पुणे झेलम स्पेशल और 02137/38 मुम्बई फिरोजपुर पंजाब मेल स्पेशल रोजाना चलेगी।

PNB से कैश निकालने के बदलेंगे नियम

-पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) ने 1 दिसंबर से कैश ​निकालने का नियम बदलने का ऐलान किया है।
-बैंक के मुताबिक नया नियम काफी सिक्योर होगा।
-1 दिसंबर से PNB वन टाइम पासवर्ड (OTP) बेस्ड कैश विड्रॉल सुविधा लागू करने जा रहा है।
-PNB की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक एक बार में 10000 रुपये से ज्यादा की कैश निकासी अब OTP बेस्ड होगी।
-पीएनबी बैंक में ये नियम 1 दिसंबर से रात 8 बजे से लेकर सुबह 8 बजे के बीच लागू होगा।
-यानी इस समयावधि में 10000 रुपये से ज्यादा का अमाउंट निकालने के लिए PNB ग्राहकों को OTP की जरूरत होगी। इसलिए ग्राहक अपना मोबाइल साथ लेकर जाएं।

बदल सकती हैं गैस सिलेंडर की कीमतें

-सरकारी तेल कंपनियां हर महीने की पहली तारीख को एलपीजी सिलेंडर की कीमतों की समीक्षा करती हैं, यानी कीमतें बढ़ाने-घटाने पर विचार करती हैं।
-ऐसे में संभव है कि 1 दिसंबर को एलपीजी सिलेंडर की कीमतों में बदलाव हो सकता है।
-नवंबर में ऑयल कंपनियों ने कमर्शियल सिलेंडर की कीमतों में बढ़ोतरी की थी।
-क्योंकि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में लगातार इजाफा हो रहा है।

Show More

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!