CrimeNATIONAL

दबंगों ने घर में घुसकर किया रेप, पंचायत में लॉटरी से लगाई पीड़िता की अस्मत की कीमत

उत्तर प्रदेश के सीतापुर में मानवता को शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है. यहां पहले तो नाबालिग से घर में घुसकर दबंग ने रेप की वारदात को अंजाम दिया और फिर गांव में पंचायत बुलाकर नाबालिग की आबरू की कीमत 50 हजार रुपये लॉटरी के जरिये तय कर दी. पंचायत में हुई बेइज्जती और न्याय की आस लगाये पीड़िता पुलिस के पास पहुंची तो पुलिस ने भी महज छेड़छाड़ की धाराओं में केस दर्ज कर अपनी जिम्मेदारी से पल्‍ला झाड़ लिया. मामला मीडिया के संज्ञान में आने के बाद पुलिस हरकत में आई और अब जांच पड़ताल कर कार्यवाही करने की बात कह रही है.

घटना सीतापुर के थाना थानगांव इलाके की है जहां 17 साल की नाबालिग पीड़िता का आरोप है कि बीती 29 अक्टूबर की रात जब वह अपने घर में सो रही थी, तभी पड़ोस के रहने वाले एक युवक मोहम्‍मद अहमद ने घर में घुसकर दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया. तभी पीड़िता के चीखने चिल्लाने पर उसकी मां की आंख खुल गयी और उसने आरोपी अहमद को दबोच लिया. पीड़िता की मां का कहना हैं कि उसने गांव वालों को बुलाकर पूरे मामले की जानकारी दी जिसके बाद गांव वालों ने पूरा मामला पंचायत में रखा.

पीड़िता का आरोप है कि जब वह मामले की शिकायत करने के लिए थाने जा रहे थी, तभी आरोपियों ने मामले के लिए पंचायत बुलाई और तकरीबन आधा सैकड़ा से अधिक लोगों के सामने उसकी आबरू की कीमत लगवाई गई. पीड़िता का आरोप हैं कि पंचायत में 50,60,70 हजार की तीन पर्चियां लॉटरी के रूप में डाली गई और कहा गया कि जो पर्ची पीड़ित लड़की उठा लेगी, उसे आरोपी को जुर्माना देना पड़ेगा जिसके बाद मामला रफा दफा हो जाएगा. पीड़िता का आरोप है कि पंचायत ने उसकी कीमत 50 हजार लगाई और दबंगों ने मामले को यहीं पर खत्म करने की ही धमकी दी थी.

पीड़िता का कहना है कि पंचायत में हुयी बेइज्जती और अपने साथ हुए अत्याचार में न्याय पाने के लिए उसने 2 नवंबर की सुबह थानगांव थाने पर कानून का दरवाजा खटखटाया. पीड़िता का आरोप हैं कि 24 घण्टे बीत जाने के बाद भी थाने पर उसकी कोई फरियाद नहीं सुनी गई जिससे थक हारकर वह सीतापुर पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंची और पूरे मामले से उच्चाधिकारियों को अवगत कराया.

पंचायत में किशोरी की आबरू की कीमत लॉटरी से तय करने का मामला सामने आने के बाद पुलिस के उच्चाधिकारियों ने तत्काल मामले में कार्रवाई के आदेश दिए लेकिन स्थानीय पुलिस ने मामले में दुष्कर्म के बजाय महज छेड़छाड़ की धाराओं में केस दर्ज कर अपनी जिम्मेदारी से पल्‍ला झाड़ लिया. मामला मीडिया के संज्ञान में आने के बाद पुलिस अधिकारी हरकत में आये और पूरे मामले की जांच करवाकर कार्रवाई की बात कह रहे हैं. एएसपी दक्षिणी नरेंद्र प्रताप सिंह का कहना हैं कि घटनाक्रम के बाद पंचायत लगने की भी बात सामने आई है तो ऐसा गांव में कई बार देखा गया है कि लोग थाने आने से पहले आपस से समझौता करने का प्रयास करते हैं. इसकी भी जांच पड़ताल की कराई जा रही है. आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया गया है.

Tags

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!