Chhattisgarh

प्याज की कीमत वृद्धि पर रोक लगाने के लिए कारोबारियों की होगी बैठक, खाद्य विभागअधिकारी ने किया खुलासा 

कोरबा. औधोगिक नगरी कोरबा में प्याज की कीमतों में अप्रत्यासित वृद्धि हुई है. इस वृद्धि पर नियंत्रण के लिए चिल्हर और थोक दुकानदारों का सयुंक्त बैठक जिला प्रशासन द्वारा आयोजिय किया जायेगा इस बात की जानकारी सहायक खाद्य अधिकारी एस.के. सिंह ने दी है. श्री सिंह ने बताया कि कोरबा में प्याज के दामों पर अंकुश लगाने के लिए शीघ्र  ही प्याज विक्रेता जिनमे चिल्हर और थोक विक्रेता शामिल है उनकी सयुंक्त बैठक ली जाएगी. श्री सिंह ने बताया कि स्टॉक कि कोई लीमिट तय नहीं है, लेकिन केंद्र सरकार ने लिमिट तय क्र दिया है. प्याज की आवक-जावक पर नजर रखी जा रही है औधोगिक नगरी कोरबा में चार दिन पूर्व प्रतिकिलो प्याज का भाव 50 रूपए था यह बढ़कर 70 -75  रूपए तक हो गई है. इससे लोगो को परेशानी का सामना करना पड़  रहा है. इस मामले में जिला प्रशासन ने भी हस्तक्षेप करते हुए प्याज कारोबारियों पर निगरानी रख रही है. वही दुसरी ओर केंद्र सरकार ने प्याज की कीमतों में आयी तेजी के चलते प्याज पर स्टॉक लिमिट लगा दिया है. अब थोक व्यापारी अधिकतम 25  टन जबकि खुदरा कारोबारी अधिकतम 2  टन प्याज का भण्डारण कर पाएंगे ये स्टॉक लिमिट 31  दिसम्बर तक जारी रहेगी, उम्मीद जताई जा रही कि प्याज पर स्टॉक लिमिट प्रावधान होने से जमाखोरी रुक जाएगी महत्वपूर्ण बात यह है कि एक माह पूर्व ही केंद्र सरकार ने इन्शेन्सियल कमोडिटी एक्ट संशोधन लागू किया है इससे प्याज, आलू, खाद्य तेलों आदि को बाहर कर दिया था इसकी वजह से प्याज की कीमत में वृद्धि हुई है.
Show More

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!