Chhattisgarh

कोरबा : होम आईसोलेशन में रहने वालेे कोरोना संक्रमितों की हो नियमित माॅनिटरिंग.. समीक्षा बैठक में प्रभारी मंत्री डाॅ. टेकाम के निर्देश.

छत्तीसगढ़/कोरबा : जिले के प्रभारी मंत्री डाॅ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से कोरबा जिले में कोरोना संक्रमितों के इलाज की व्यवस्थाओं और माॅनिटरिंग सिस्टम की समीक्षा की। कलेक्टर किरण कौशल ने जिले में कोरोना संक्रमितों कोे विशेष कोविड अस्पताल, स्याहीमुड़ी स्थित कोविड केयर सेंटर के साथ-साथ होम आईसोलेशन में रहकर भी इलाज की सुविधा उपलब्ध कराने की जानकारी बैठक में दी। प्रभारी मंत्री ने होम आईसोलेशन में रहकर इलाज कराने वाले मरीजों की लगातार माॅनिटरिंग करने के निर्देश अधिकारियों को दिये। प्रभारी मंत्री ने कहा कि शासन के दिशा-निर्देशों के अनुरूप कोरोना संक्रमित मरीजों के घर में परिवार के अन्य सदस्यो से अलग रखने की पर्याप्त सुविधा होने पर ही होम आईसोलेशन की इजाजत दी जाये। व्यवस्था नहीं होने पर तत्काल संक्रमित को कोविड अस्पताल या केयर सेंटर में भर्ती कराया जाये। उन्होंने होम आईसोलेशन में रहने वाले मरीजों की लगातार निगरानी और उनके स्वास्थ्य की लगातार जानकारी लेते रहने के भी निर्देश अधिकारियों को दिये। डाॅ. टेकाम ने होम आईसोलेशन में रहकर इलाज कराने वाले मरीजों को दी जाने वाली दवाओं की किट के उपयोग की भी पूरी जानकारी लेने के निर्देश अधिकारियों को दिये। प्रभारी मंत्री ने होम आईसोलेशन मंे रहने वाले मरीजों के घरों से निकलने वाले कचरे और अपशिष्टों का वैज्ञानिक तरीके से निपटान सुनिश्चित करने के भी निर्देश अधिकारियों को दिये।

बैठक में कलेक्टर श्रीमती कौशल ने बताया कि कोरबा जिले में अभी तक 746 कोरोना संक्रमितों को होम आईसोलेशन में रहकर इलाज की सुविधा दी गयी है। इन सभी की नियमित माॅनिटरिंग की जा रही है। डाॅक्टरों और स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा समय-समय पर वीडियो काॅल के माध्यम से मरीजों का हालचाल पूछा जा रहा है। मरीजों का आॅक्सीजन लेबल, टैम्परेचर और स्वास्थ्यगत जानकारियां लगातार ली जा रहीं है। आवश्यकता पड़ने पर पूरी सुरक्षा के साथ मरीज के घर जाकर भी जांच की जा रही है। कलेक्टर ने यह भी बताया कि अभी तक होम आईसोलेशन में रहने वाले 12 कोरोना संक्रमितो को तबियत बिगड़ने पर तत्काल कोविड अस्पताल शिफ्ट किया गया है। कलेक्टर ने बताया कि होम आईसोलेशन मेे रह रहे मरीजों की माॅनिटरिंग के लिये जिला स्तर पर कंट्रोल रूम भी स्थापित किया गया है। 24 घंटे कार्यशील इस कंट्रोल रूम से लगातार फोन कर मरीजों की पूरी जानकारी ली जा रही है साथ ही किसी भी प्रकार की परेशानी होने पर मरीजों द्वारा भी कंट्रोल रूम फोन कर बताया जाता है।

बैठक में प्रभारी मंत्री ने जिले में लागू लाॅकडाउन के बारें में भी विस्तृत जानकारी ली। उन्होंने कलेक्टर एवं एसपी सहित सभी अधिकारियों को लाॅकडाउन का सख्ती से पालन कराने के निर्देश दिये ताकि कोरोना संक्रमण की बढ़ती चेन को तोड़ा जा सके। डाॅ. टेकाम ने जिलावासियों से लाॅकडाउन का पालन कर कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने में शासन-प्रशासन को सहयोग करने की अपील भी की। उन्होंने लाॅकडाउन के प्रावधानों और कोविड प्रोटोकाॅल का उल्लंघन करने वालों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई के भी निर्देश अधिकारियों को दिये। पुलिस अधीक्षक श्री अभिषेक मीणा ने बैठक में बताया कि कल से शुरू हुआ लाॅकडाउन अभी तक सफल एवं शांतिपूर्ण रहा है। लाॅकडाउन का पालन कराने के लिये कोरबा शहर में 250 पुलिस जवान तैनात किये गये हैं। जिले की सीमाओं पर बैरियर स्थापित कर आने-जाने वालों की जानकारी ली जा रही है। शहरी क्षेत्रों सहित ग्रामीण क्षेत्रों में भी बिना कारण, बिना काम के घरों से निकलने वाले लोगों के विरूद्ध चालानी कार्रवाई के साथ-साथ सख्ती भी बरती जा रही है।

Show More

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!