Chhattisgarh

एसईसीएल में कोविड-19 से मौत पर कोयला अफसरों के आश्रितों को मिलेगा ₹15 लाख का मुआवजा.. मजदूरों व ठेका कर्मचारियों के लिए पहले से यह व्यवस्था.

छत्तीसगढ़/कोरबा : एसईसीएल में अब कोयला कर्मचारियों के तर्ज पर अधिकारियों को कोरोना से मौत होने पर उनके आश्रितों को 15 लाख रुपए और नौकरी प्रदान की जाएगी।

यह भी पढ़े : कोरबा में कोरोना का कहर जारी.. जिले में मिले 100 से ज्यादा मरीज.. 2, 3, 5, 8 व 9 वर्ष के बच्चे भी शामिल.

कोल इंडिया के औद्योगिक संबंध व श्रमिक शक्ति महाप्रबंधक एके चौधरी ने इस संबंध में एसईसीएल को पत्र भेजकर निर्देश दिया है कि एसईसीएल के अधिकारियों को कर्मचारियों की तर्ज पर कोरोना से मौत होने पर 15 लाख रुपए मुआवजा और नौकरी दी जाएगी। यह व्यवस्था एसईसीएल में विभागीय कर्मचारियों और ठेका कर्मचारियों के लिए पहले से ही लागू है लेकिन कोयला अधिकारियों को इस लाभ से वंचित रखा गया था लेकिन आज कोल इंडिया ने अफसरों को भी इसका लाभ देने का निर्देश जारी किया है। इस पर अमल भी होने लगी है बता दें कि कोयला मंत्री पहलाद जोशी ने इसकी घोषणा किया था जिसके बाद कोल इंडिया ने बोर्ड मीटिंग कर इस संबंध में निर्णय लिया था। कॉल इंडिया द्वारा जारी निर्देश में बताया गया है कि यदि किसी कोल इंडिया कर्मी, ठेका कर्मी और अधिकारी की कोविड-19 से मौत होती है तो उन्हें घातक खान दुर्घटना के तहत मिलने वाली ₹15 लाख की मुआवजा मिलेगी, साथ ही उनके एक आश्रितों को नौकरी भी दी जाएगी।

यह भी पढ़े : लगातार छठे दिन कोरोना वायरस के एक्टिव मामलों में आई कमी, लेकिन कुल केस 57 लाख के ऊपर.

महत्वपूर्ण बात यह है कि कुछ यूनियनों ने संसय व्यक्त करते हुए अधिकारियों के आश्रितों पर सवाल खड़े किए थे। कोल इंडिया महाप्रबंधक ने यह साफ किया है कि अधिकारी या कर्मचारी या फिर ठेका कर्मी किसी के भी कोविड-19 से मौत हो चुकी है उन्हें लाभ दिया जाएगा।

यह भी पढ़े : सिर्फ 1 रुपये के पेमेंट पर ले जाएं स्कूटी या बाइक, इस बैंक ने दी सुविधा..

Show More

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!