CHHATTISGARH

अवैध कब्जा कर शासकीय भूमि पर पोल्ट्री फार्म निर्माण.. संचालक को नोटिस जारी कर निभा दी औपचारिकता.

रिपोर्ट : रौनक सराफ

छत्तीसगढ़/जांजगीर-चाम्पा : बम्हनीडीह विकास खण्ड के ग्राम पंचायत चोरिया के आश्रित ग्राम बरभाटा मे शासकीय भूमि पर अवैध कब्जा कर मोहन लाल चन्द्रा पिता दाऊ राम चन्द्रा के द्वारा बरभाटा के झिलमिलिया रोड होते हुए सोनसरी एनीकट जाने के प्रमुख मार्ग पर अवैध कब्जा कर मोहन लाल के द्वारा पोल्ट्री फार्म का निर्माण सडक के बीचों बीच करा दिया गया है जिससे एनीकट जाने का मुख्य मार्ग पुरी तरह से बंद हो गया है ग्रामीणो ने इसकी लिखित शिकायत चाम्पा तहसीलदार से की थी जिस पर चाम्पा तहसीलदार ने सिकायत के महिनों बीत जाने के बाद भी अब तक कोई कार्यवाही नही की है जिससे अवैध कब्जा कर पोल्ट्रीफार्म संचालक के हौसले बुलंद होते जा रहे है वही सिकायत के बाद भी कोई कार्यवाही नही होने से तेजी ग्रामीणो शासकीय भूमि पर अवैध कब्जा कर खेत व मकान बना रहे है।

ग्रामीणो ने अपनी शिकायत मे बताया है की मोहन लाल चन्द्रा पिता दाऊ राम चन्द्रा के द्वारा शासकीय भूमि खसरा नम्बर 1346/1 रखबा 57 हेक्टेयर शासकीय भूमि के नाम से दर्ज है जिसके कुछ भुमि पर वन विभाग द्वारा पौधे लगाये गये है शासकीय भूमि के अधिकांश जमीन पर ग्रामीणो के द्वारा अवैध कब्जा कर रखा है जिसमे मोहन लाल चन्द्रा के द्वारा भी शासकीय भूमि पर आलीसान पोल्ट्री फार्म का निर्माण कराया गया है जिले लेकर अब ग्रामीणो लामबंद हो गये है और शासकीय भूमि सड़क के बीचों बीच बने पोल्ट्री फार्म को हटाकर सार्वजनिक रास्ते को कब्जा मुक्त करा कर ग्रामीणो के आवागमन के लिये पोल्ट्री फार्म को तोडकर रास्ते को साफ किया जाये जिससे आगे मे बने एनीकट खेतो की ओर किसानो को आने जाने मे कोई परेशानी का सामना करना पड़ता है।

कब्जा कर बनाया मुर्गी पालन केंद्र

शासकीय भूमि पर बेजाकब्जा का सिलसिला बम्हनीडीह ब्लाक के ग्राम चोरिया में बेरोकटोक चल रहा है। ताजा मामला चोरिया के सोनसरी एनीकट का बीचों-बीच स्थित भूमि का है। जहां पर शासकीय जमीन पर मुर्गपालन केंद्र खोल लिया गया है। जिसकी शिकायत करने के बाद भी सम्बंधित विभाग के अधिकारी कोई ध्यान नहीं दे रहे है।ग्रामीणों ने बताया कि अधिकारियों की लापरवाही के कारण सरकारी भूमि में जगह-जगह अवैध कब्जा हो गया है। लेकिन विभाग द्वारा कब्जा हटाने के कोई प्रयास नहीं किए जा रहे हैं। जिसके कारण अतिक्रमण के कारण जमीन सिकुड़ती जा रही है। आपको बता दे कि मोहन चंद्रा के बेधड़क सरकारी संपत्ति पर मोटी रकम लगाकर उस पोल्ट्री फार्म का निर्माण करवाया है।शिकायत होने के बावजूद कही न कही आला अधिकारियों पर कार्यवाही नही करने से उंलगी उठने लगी है।शासकीय भूमि पर अतिक्रमण कर पोल्ट्री फार्म निर्माण कर शासन को लाखो रुपये की राजस्व क्षति पहुंचाई जा रही है।फिर भी स्थानीय प्रशासन चुप्पी साधे बैठी हुए है।

चुपके से करा दिया अवैध पोल्ट्री फार्म का निर्माण

ग्राम पंचायत चोरिया के सोनसरी एनीकट के पास निर्माण पोल्ट्री फार्म को अब चालू होने के देर नही है क्योंकि पोल्ट्री फार्म संचालक मोहन चंद्रा द्वारा चुपके से अवैध तरीके से सरकारी जमीन पर निर्माण करवा दिया।सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक इस पोल्ट्री फार्म निर्माण में किसी स्थानीय नेता की मदद से शासन के भूमि को हड़प कर निर्माण करवाया गया है।फिलहाल अभी तो पोल्ट्री फार्म में कार्य प्रारंभ नही हुआ है लेकिन जल्द ही मुर्गी पालन का कार्य प्रारंभ होने लगेगा।लेकिन ग्रामीणों की मांग है जल्द ही इस पर कार्यवाही होनी चाहिए।इस पोल्ट्री फार्म के निर्माण से किसानों को आने जाने व कृषि उपकरणों को खेतो तक पहुचाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

पूर्व में तहसील कार्यालय से दिया गया था नोटिस फिर भी नही हो रही कार्यवाही

अवैध रूप से सरकारी जमीन पर पोल्ट्री फार्म निर्माण के मामले में ग्रामीणों द्वारा लिखित शिकायत तहसीलदार से की थी फिर बेजाकब्जा धारी को नोटिस जारी किया गया था। उसके बाबजूद नही तरह की कार्यवाही अभी तक नही हो पाई है।जिससे ग्रामीणों में आक्रोश पनपने लगा है।आखिर इस बेजा कब्जा धारी पर कार्यवाही क्यों नहीं हो रही है। यह मामला चोरिया के आश्रित ग्राम बरभाठा व क्षेत्र के लोगों के बीच चर्चा का विषय बन गया है आखिर इस मामले पर कब जांच हो कर कार्यवाही होगी यह समझ से परे है।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!