CHHATTISGARHCrime

मिट्टी तेल जब्ती के एक माह बाद भी खाद्य विभाग पुलिस को नहीं दे पाई जांच रिपोर्ट.. पीडीएस दुकान से मिट्टी तेल कालाबाजारी की आशंका.. कटघोरा का मामला.

छत्तीसगढ़/कोरबा : जिला खाद्य विभाग मिटटी तेल अफरातफरी मामले में एक माह बाद भी पुलिस को रिपोर्ट नहीं दे पाई है जिससे मामले की कार्यवाही प्रभावित हो रही है।

यह भी पढ़े : जिले में डॉक्टर, वन कर्मी, रेल कर्मियों, एसईसीएल, सीएसईबी, एनटीपीसी कर्मचारियों सहित मिले 79 संक्रमित.. कुसमुंडा, सीतामणी, दीपका, कटघोरा से भी मिले मरीज.

पुलिस ने गत 14 अगस्त को तहसीलभांठा में एक युवक से 40 लीटर मिटटी तेल जब्त किया था। यह मिटटी तेल तहसीलभांठा में संचालित एक पीडीएस दुकान से चोरी छिपे कालाबाजारी के लिए भेजे जाने कि आशंका जताई गई थी। पुलिस ने मिटटी तेल जब्त करने के बाद आरोपी को गिरफ्तार कर कार्यवाही की। पुलिस ने इस संबंध में जिला खाद्य विभाग को पत्र लिख कर यह जानकारी मांगी कि मिटटी तेल जहा से आरोपी को मिला था वह मिटटी तेल किस पीडीएस दुकान से भेजी जा रही थी।

यह भी पढ़े : कुसमुण्डा – SECL इंजीनियर निकला कोरोना पॉजिटिव, सिविल विभाग हुआ सील.

पुलिस पत्र भेजे जाने के बाद भी जिला खाद्य विभाग ने किसी भी तरह कि जानकारी नहीं दी है जबकि घटना हुए एक माह से भी अधिक समय हो चुकी है। पुलिस सूत्रों ने बताया कि जब तक जिला खाद्य विभाग के जाँच रिपोर्ट और अन्य जानकारी प्राप्त नहीं होगी तब तक आगे की कार्यवाही नहीं की जाएगी।

यह भी पढ़े : कोरबा: कार में घुसा अब तक का सबसे विशालकाय अजगर, जितेंद्र सारथी ने टीम के साथ किया सफल रेस्क्यू. 

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!