CrimeNational

8 महीने में 6 शादी, दुल्हन की हकीकत जानकर हैरान रह गया हर कोई..

आठ महीने छह शादी, ये किसी फिल्म का नाम नहीं बल्कि एक ऐसी दुल्हन की कहानी है, जो अपने शिकंजे में लड़कों को फंसाती थी और उनसे शादी करती थी। शादी के बाद दुल्हें की हत्या करती और सारा सामान लेकर भाग जाती थी। पुलिस ने ऐसी ही एक लुटेरी दुल्हन गैंग का पर्दाफाश किया है।पुलिस ने जांच में पाया कि युवती ने शादी के नाम पर लूट और हत्या की वारदात कई राज्यों में अंजाम दे चुकी थी। मध्य प्रदेश, राजस्थान, गुजरात, उत्तर प्रदेश के कई इलाकों में वह झूठी शादी करके लोगों को अपना निशाना बना चुकी है।

दरअसल सात दिन पहले मध्य प्रदेश के रतलाम जिले में एक युवक का शव पेड़ से लटकता मिला था। मामले में पुलिस ने जांच आगे बढ़ाई तो इस पूरे गैंग का खुलासा हुआ। जानकारी के अनुसार, शादी के दो दिन बाद ही दुल्हन मायके जाने की जिद्द करती है। लड़का भी उसके साथ चलने की बात कहता है। रास्ते में ही युवती ने अपने साथियों के साथ मिलकर युवक की हत्या करवा दी और उसके शव को पेड़ से लटका दिया। पूछताछ में पता चला कि बांसवाड़ा के सैलाना में सात दिन पहले महेंद्र की शादी हुई थी। यहां भी युवक की हत्या उसकी दुल्हन ने ही करवाई थी। यह वही युवती थी जिसने रतलाम में युवक की हत्या करवाई वो भी शादी के सिर्फ दो दिन बाद।

पुलिस जांच में खुलासा हुआ कि महेंद्र और मीनाक्षी की शादी मैरिज ब्यूरो के माध्यम से हुई थी। शादी के लिए मीनाक्षी के भाई बने शख्श ने ढाई लाख रुपये लिए थे। दोनों की शादी परिवार की रजामंदी के बाद कोर्ट से हुई थी। शादी के दो दिन बात ही मीनाक्षी के रिश्तेदार बनकर आए कुछ लोगों ने महेंद्र को अपनी कार में बैठाया और उसे अपने साथ ले गए। अगले दिन महेंद्र का शव एक पेड़ से लटका मिला था।

महेंद्र की हत्या के बाद पुलिस ने अपना जाल बिछाया और सायबर सेल की मदद से मीनाक्षी का नंबर ट्रेस किया, जो मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में मिला। पुलिस ने जब वहां छापेमारी को तो आरोपी युवती को गिरफ्तार किया। पूछताछ में युवती ने बताया कि उसे एक शादी के बदले 10 हजार रूपये मिलते हैं। इसमें उसका साथ उत्तर प्रदेश के रहने वाला पुष्पेंद्र दुबे देता है, जो उसका झूठा भाई बनकर लड़कों के घर वालों को फंसाता था।

Tags
Show More

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!